संचार और विकास : श्यामाचरण दुबे द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Sanchar Aur Vikas : by Shyamacharan Dubey Hindi PDF Book

संचार और विकास : श्यामाचरण दुबे द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Sanchar Aur Vikas : by Shyamacharan Dubey Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name संचार और विकास / Sanchar Aur Vikas
Author
Category,
Language
Pages 35
Quality Good
Size 5 MB
Download Status Available

संचार और विकास का संछिप्त विवरण : मानव के सामाजिक औए सांस्कृतिक विकास की कहानी अभी आधूरी है उसके कई अध्याय का कच्चा और आरंभिक रूपांकन ही हम अब तक कर पाए हैं | इस इतिहास के कुछ पक्ष ऐसे हैं, जिनहे हम केवल सतह को ही छु पाये हैं और कई ऐसे हैं जिनमे हमारी जानकारी सिर्फ ऊपरी दो तीन परतों तक ही सीमित हैं । हुमे यह मालूम है की मानव की विकास परिपन्त्नों का हर मुख्य मोड एक ……….

 

Sanchar Aur Vikas PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Manav ke saamaajik aue saanskrtik vikaas ki kahaani abhi aadhooree hai usake kayi adhyaay ka kachcha aur aarambhik roopaankan hee ham ab tak kar pae hain. is itihaas ke kuchh paksh aise hain, jinahe ham keval satah ko hee chhu paaye hain aur kaee aise hain jiname hamaaree jaanakaaree sirph ooparee do teen paraton tak hee seemit hain . hume yah maaloom hai kee maanav kee vikaas paripanttron ka har mukhy mod ek………….
Short Description of Sanchar Aur Vikas PDF Book : The story of human social and cultural development is still incomplete; we have been able to do the raw and initial motif of many of his chapters till now. There are some aspects of this history, which we have touched only on the surface and there are many such cases where our information is limited to only the upper two layers. Humayu knows that every major mode of human development is one…………..
“पूरा जीवन एक अनुभव है। आप जितने अधिक प्रयोग करते हैं, उतना ही इसे बेहतर बनाते हैं।” राल्फ वाल्डो एमर्सन
“All life is an experiment. The more experiments you make the better.” Ralph Waldo Emerson

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment