सांप और हम : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Sanp Aur Ham : Hindi PDF Book – Social (Samajik)

सांप और हम : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - सामाजिक | Sanp Aur Ham : Hindi PDF Book - Social (Samajik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name सांप और हम / Sanp Aur Ham
Author
Category, ,
Language
Pages 66
Quality Good
Size 6 MB
Download Status Available

सांप और हम का संछिप्त विवरण : कुछ वर्ष पहले की बात है। रोम अपने मद्रास स्थित सर्प पार्क के लिए सांप एकत्र करने हेतु बरसात के मौसम में कर्नाटक के जंगलों में गया। सांझ ढलने से थोड़े समय पहले ही उसने पत्तों की खड़खड़ाहट सुनी। उसने नीचे की ओर देखा तो पाया कि एक्न काकली लंबी पूंछ शीघ्रता से झाड़ियों में लुप्त हो गई। बिना किसी झिझक के उसने उस ओर छलांग लगाई……..

Sanp Aur Ham PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Kuchh Varsh pahale ki bat hai. Rome apne madras sthit sarp Park ke liye Sanp ekatra karne hetu barsat ke mausam mein karnatak ke jangalon mein gaya. Sanjh dhalane se thode samay pahale hi usne patton ki Khadakhadahat suni. Usne neeche ki or dekha to paya ki ekn Kakli lambi poonchh sheeghrata se jhadiyon mein lupt ho gayi. Bina kisi jhijhak ke usane us or chhalang lagayi……….
Short Description of Sanp Aur Ham PDF Book : It was a few years ago. Rome went to the forests of Karnataka during the rainy season to collect snakes for his snake park in Madras. Shortly before dusk, he heard the rattle of the leaves. He looked down and found that Ekn Kakali’s long tail quickly disappeared in the bushes. Without any hesitation he jumped towards it…….
“व्यस्त रहना काफी नहीं है, व्यस्त तो चींटियां भी रहती हैं। सवाल यह है – हम किस लिए व्यस्त हैं?” हेनरी डेविड थोरु
“It is not enough to be busy, so are the ants. The question is: what are we busy about?” Henry David Thoreau

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment