शून्य में परमात्मा : डॉ. चमनलाल गौतम द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – आध्यात्मिक | Shunya Mein Parmatma : by Dr. Chaman Lal Gautam Hindi PDF Book – Spiritual (Adhyatmik)

शून्य में परमात्मा : डॉ. चमनलाल गौतम द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - आध्यात्मिक | Shunya Mein Parmatma : by Dr. Chaman Lal Gautam Hindi PDF Book - Spiritual (Adhyatmik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name शून्य में परमात्मा / Shunya Mein Parmatma
Author
Category,
Language
Pages 174
Quality Good
Size 47 MB
Download Status Available

शून्य में परमात्मा का संछिप्त विवरण : मन तभी घूटता है जब आत्मा और मन आमने सामने आ जाएँ। आत्मा और मन को आमने-सामने आने का एक ही उपाय है–छ्यान्‌ | मन ध्यान से भयभीत रहता है क्योंकि वह जानता है कि ध्यान काल का रूप ग्रहण करके उसके प्राण खींच लेगा और उसका अस्तित्व समाप्त ही जायगा। वास्तव में ध्यान ही मन की मृत्यु है। ध्यान साधक……

Shunya Mein Parmatma PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Man Tabhi Ghootata hai jab Aatma aur man Amane samane aa jayen. Aatma aur man ko Aamane-samane aane ka ek hi upay hai – chhyan . Man dhyan se bhayabheet rahata hai kyonki vah janata hai ki dhyan kal ka roop grahan karake usake pran kheench lega aur usaka astitv samapt hi jayega. Vastav mein dhyan hi man ki mrtyu hai. dhyan sadhak……..
Short Description of Shunya Mein Parmatma PDF Book : The mind dissolves only when the soul and the mind come face to face. There is only one way for the soul and the mind to come face-to-face. The mind is afraid of meditation because it knows that by taking the form of meditation time, it will take its life and its existence will cease. In fact meditation is the death of mind. attention seeker……..
“हमें भाईयों की तरह मिलकर रहना अवश्य सीखना होगा अन्यथा मूर्खों की तरह सभी बरबाद हो जाएंगे।” ‐ मार्टिन लूथर किंग, जूनियर
“We must learn to live together as brothers or perish together as fools.” ‐ Martin Luther King, Jr.

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment