हिंदी संस्कृत मराठी धर्म विज्ञानं

सिद्धिदात्री वाक् साधना / Siddhidatri Vakk Sadhana

Siddhi सिद्धिदात्री वाक् साधना : आचार्य श्रीराम शर्मा द्वारा हिंदी पीडीऍफ पुस्तक | Siddhidatri Vakk Sadhana : by Acharya Shriram Sharma Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name सिद्धिदात्री वाक् साधना / Siddhidatri Vakk Sadhana
Author
Category, , ,
Language
Pages 49
Quality Good
Size 1.7 MB
Download Status Available

सिद्धिदात्री वाक् साधना का संछिप्त विवरण : ’जीभ सबके मुख में है और बोलते भी सभी हैं पर बोलना किसी-किसी को ही आता है| वाणी का सही उपयोग कोई-कोई ही कर पाता है| तत्व-वेत्ताओं ने शब्द को शिव और वाणी को शक्ति कहा है | इनका अनुग्रह जिस पर हो, उसे अमरत्व उपभोक्ता ही कहना चाहिए……

Siddhidatri Vakk Sadhana PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Jeebh Sabke Mukh mein hai aur bolte bhee sabhee hain par bolna kisi-kisi ko hee aata hai| vaanee ka sahee upayog koee-koee hee kar paata hai| tatv-vettaon ne shabd ko shiv aur vaanee ko shakti kaha hai| inaka anugrah jis par ho, use amaratv upabhokta hee kahana chaahie……………
Short Description of Siddhidatri Vakk Sadhana PDF Book : The tongue is in the mouth of all and speaks all but speaking comes to somebody only. Everyone can’t do the right use of speech. Elements of the word have called the word Shiva and Vani as Shakti. Whose grace is to be, it should be called immortality consumer……………
“जोखिम उठाइये! पूरी जिंदगी एक जोखिम है। सबसेआगे निकलने वाला व्यक्ति सामान्यतया वह होता है जो कर्म और दुस्साहस के लिए इच्छुक रहता है।” डेल कार्नेगी
“Take a chance! All life is a chance. The man who goes the furthest is generally the one who is willing to do and dare.”

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Leave a Comment