सिरके की बोतल में बुढ़िया : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Sirke Ki Botal Mein Budhiya : Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

सिरके की बोतल में बुढ़िया : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - बच्चों की पुस्तक | Sirke Ki Botal Mein Budhiya : Hindi PDF Book - Children's Book (Bachchon Ki Pustak)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name सिरके की बोतल में बुढ़िया / Sirke Ki Botal Mein Budhiya
Author
Category, ,
Language
Pages 16
Quality Good
Size 90 KB
Download Status Available

सिरके की बोतल में बुढ़िया का संछिप्त विवरण : फिर परी सोचने लगी “अरे उस बूढ़ी औरत का क्या हाल है ? जो कभी एक सिरके की बोतल में रहती थी.” लेकिन जब परी उसके पास गई, तो बुढ़िया झोपड़ी में बैठकर शिकायत कर रही थी. “अरे, कितनी शर्म की बात है! बड़े अफ़सोस की बात है !” कि मैं इस तरह की एक छोटी सी झोपड़ी में रहने को मज़बूर हूँ क्यों…….

Sirke Ki Botal Mein Budhiya PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Phir Pari sochane lagi “Are us Boodhi Aurat ka kya hal hai ? Jo Kabhi ek sirke ki botal mein rahati thi.” Lekin jab Pari uske pas gayi, to budhiya jhopadi mein baithakar shikayat kar rahi thi. Are, kitani sharm ki bat hai ! Bade Afsos ki bat hai!” Ki main is tarah ki ek chhoti si jhopdi mein rahane ko mazboor hoon kyon……….
Short Description of Sirke Ki Botal Mein Budhiya PDF Book : Then the angel started thinking “Hey, what’s the old lady who once lived in a bottle of vinegar?” But when the angel went to her, the old lady was sitting in the hut complaining. “Oh, what a shame! It is a pity! “That I am forced to live in such a small hut, why ……….
“जब हम अपने विचारों को सही दिशा निर्देशन प्रदान करते हैं, तो हम अपनी भावनाओं को नियंत्रित कर सकते हैं।” ‐ डब्ल्यू. क्लेमेंट स्टोन
“When we direct our thoughts properly, we can control our emotions.” ‐ W. Clement Stone

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment