स्वाध्याय सत्संग और चिंतन-मनन हिंदी पुस्तक मुफ्त डाउनलोड | Swadhyay Satsang Aur Chintan Manan Hindi Book Free PDF Download

पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name स्वाध्याय सत्संग और चिंतन-मनन / Swadhyay Satsang Aur Chintan Manan
Category, ,
Language
Pages 80
Quality Good
Size 16.3 MB
Download Status Available

स्वाध्याय सत्संग और चिंतन-मनन पुस्तक का कुछ अंश : एक ही मिट्टी से बने हुए एक जैसे हाथ-पैर समान स्थिति के मनुष्यों में से जो आगे निकल गया है, ऊँचा चढ़ गया है और दूसरा जहाँ का तहाँ ही रह गया है, उसका कारण जिज्ञासा का भाव ही होता है। निश्चय ही आगे निकल जाने वाले व्यक्ति में जिज्ञासा की प्रबलता रही होती है, जबकि फिसड्डी में उसका अभाव होता है। जो……..

Swadhyay Satsang Aur Chintan Manan PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Ek hi Mitti se bane huye ek jaise hath-pair saman sthiti ke manushyon mein se jo aage nikal gaya hai, Uncha chadh gaya hai aur doosara jahan ka tahan hi rah gaya hai, uska karan jigyasa ka bhav hi hota hai. Nishchay hi aage nikal jane vale vyakti mein jigyasa ki prabalata rahi hoti hai, jabaki phisaddee mein usaka abhav hota hai. jo……..
Short Passage of Swadhyay Satsang Aur Chintan Manan Hindi PDF Book : The one who has gone ahead, has climbed higher and the other has remained the same, the reason for this is the sense of curiosity. Surely the person who goes ahead has a predominance of curiosity, while the laggard lacks it. that……..
“हम जैसा सोचते हैं वैसे बनते हैं।” ‐ अर्ल नाइटिंगेल
“We become what we think about.” ‐ Earl Nightingale

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment