स्वर्ग नरक की स्वसंचालित प्रक्रिया : श्री राम शर्मा आचार्य द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Swarg Narak Ki Swasanchalit Prakriya : by Shri Ram Sharma Acharya Hindi PDF Book

स्वर्ग नरक की स्वसंचालित प्रक्रिया : श्री राम शर्मा आचार्य द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Swarg Narak Ki Swasanchalit Prakriya : by Shri Ram Sharma Acharya Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name स्वर्ग नरक की स्वसंचालित प्रक्रिया / Swarg Narak Ki Swasanchalit Prakriya
Author
Category,
Language
Pages 121
Quality Good
Size 5 MB
Download Status Available

स्वर्ग नरक की स्वसंचालित प्रक्रिया का संछिप्त विवरण : यह संसार कर्मफल व्यवस्था के आधार पर चल रहा है, जो जैसा बोता है, वह वैसा काटता है। क्रिया की प्रतिकृया होती है। पेंडुलम एक और चलता है तो लौटकर उसे फिर वापस अपनी जगह आना पड़ता है। गेंद को जहां फेंककर मारा जाए वहाँ से लौटकर उसी स्थान पर आना चाहेगी, जहां से फेंकी गयी थी…….

Swarg Narak Ki Swasanchalit Prakriya PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Yah sansaar karmaphal vyavastha ke aadhaar par chal raha hai, jo jaisa bota hai, vah vaisa kaatata hai. kriya kee pratikrya hotee hai. pendulam ek aur chalata hai to lautakar use phir vaapas apanee jagah aana padata hai. gend ko jahaan phenkakar maara jae vahaan se lautakar usee sthaan par aana chaahegee, jahaan se phenkee gayee thi………….
Short Description of Swarg Narak Ki Swasanchalit Prakriya PDF Book : This world is running on the basis of karmic system, which sits as it sows. Action is a reaction. If the pendulum moves one more way, then he has to return to his place again. Returning from where the ball is thrown, would like to come back to where it was thrown off…………..
“मित्र वे दुर्लभ लोग होते हैं जो हमारा हालचाल पूछते हैं और उत्तर सुनने को रुकते भी हैं।” ‐ एड कनिंघम
“Friends are those rare people who ask how we are and then wait to hear the answer.” ‐ Ed Cunningham

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment