ताज की छाया में : शिवदान सिंह चौहान द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – कहानी | Taj Ki Chhaya Mein : by Shivdan Singh Chauhan Hindi PDF Book – Story (Kahani)

ताज की छाया में : शिवदान सिंह चौहान द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - कहानी | Taj Ki Chhaya Mein : by Shivdan Singh Chauhan Hindi PDF Book - Story (Kahani)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name ताज की छाया में / Taj Ki Chhaya Mein
Author
Category, , , ,
Language
Pages 220
Quality Good
Size 8.3 MB
Download Status Available

ताज की छाया में का संछिप्त विवरण : आगरा मेरा जन्म-स्थान है। किसी विदेशी के लिए मेरी मातृभूमि चाहे भारतवर्ष हो, लेकिन हिन्दी-पाठकों के लिए तो मेरी मातृभूमि आगरा ही है। इसलिए आगरे के साहित्यिक-बन्धु यदि कहें कि अपनी जन्म-भूमि के प्रति मेरा भी कुछ कर्तव्य है, कुछ दायित्व है तो उस कर्तव्य और दायित्व से मैं इन्कार कैसे कर सकता हूँ ? आगरे के कहानीकारों की कहानियों के इस संग्रह का……..

Taj Ki Chhaya Mein PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Agara mera janm-sthan hai. Kisi Videshi ke liye meri Matrbhoomi chahe bharatavarsh ho, lekin hindi-pathakon ke liye to meri matrbhoomi Agra hi hai. Isliye Agre ke sahityik-bandhu yadi kahen ki apani janm-bhoomi ke prati mera bhi kuchh kartavy hai, kuchh dayitv hai to us kartavy aur dayitv se main inkar kaise kar sakata hoon ? Agre ke kahanikaron ki kahaniyon ke is sangrah ka…….
Short Description of Taj Ki Chhaya Mein PDF Book : Agra is my place of birth. For a foreigner, my motherland may be India, but for Hindi readers, my motherland is Agra. Therefore, if the literary-brothers of Agare say that I also have some duty towards my land of birth, I have some responsibility, then how can I refuse that duty and responsibility? This collection of stories from Agra storytellers …….
“मजबूरी की स्थिति आने से पहले ही परिवर्तन कर लें।” ‐ जैक वेल्च
“Change before you have to.” ‐ Jack Welch

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment