तंत्र विज्ञान और साधना : आचार्य सीताराम चतुर्वेदी द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक – तंत्र मन्त्र | Tantra Vigyan Aur Sadhana : by Acharya Sitaram Chaturvedi Hindi PDF Book – Tantra Mantra

तंत्र विज्ञान और साधना : आचार्य सीताराम चतुर्वेदी द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Tantra Vigyan Aur Sadhana : by Acharya Sitaram Chaturvedi Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name तंत्र विज्ञान और साधना /  Tantra Vigyan Aur Sadhana
Author
Category, ,
Pages 317
Quality Good
Size 52 MB
Download Status Not Available
पुस्तक का डाउनलोड लिंक नीचे हरी पट्टी पर दिया गया है|

पुस्तक का विवरण : मानव मात्र सुख, शान्ति और समृद्धि चाहता है। इस प्रकार का सुख इस प्रकार की शान्ति और समृद्धि चाहने वाले लोग दो प्रकार के होते हैं – एक तो वे जो भौतिक सुख और समृद्धि पाकर सन्तुष्ट हो जाते हैं और उसीसे उन्हें इष्ट शान्ति भी मित्रती है। दूसरे प्रकार के सन्त पुरुष बे हैं जो भौतिक सुख और समृद्धि के बदले आध्यात्मिक के अर्थात्‌ शाश्वत आनन्द प्राप्त करना चाहते हैं। ऐसे लोग जो भौतिक सुख और समृद्धि प्राप्त भी करते हैं उसे भी वे दूसरों के कल्याण में ही लगाना चाहते हैं। इच्छित शान्ति, सुख और समृद्धि प्राप्त करने के लिये कुछ लोग जप-तप, पूजा-पाठ, हवन-अनुष्ठान आदि करते हैं या कराते हैं अथवा अन्य शक्तियों का आश्रय लेकर उनसे अपनी मन:-कामना तृप्त और तुष्ट करते हैं……….

PustakKaVivaran : Manav mantra sukh, shanti aur samrddhi chahata hai. Is prakar ka sukh is prakar ki shanti aur samrddhi chahane vale log do prakar ke hote hain – ek to ve jo bhautik sukh aur samrddhi pakar santusht ho jaate hain aur usise unhen isht shanti bhi milati hai. Doosare prakar ke sant purush ve hain jo bhautik sukh aur samrddhi ke badale aadhyaatmik sukh arthat shashvat anand prapt karan chahate hain. aise log jo bhautik sukh aur samrddhi prapt bhi karate hain use bhi ve doosaron ke kalyan mein hi lagana chahate hain. ichchhit shanti, sukh aur samrddhi prapt karane ke liye kuchh log jap-tap, pooja-path, havan-anushthan adi karate hain ya karate hain athava any shaktiyon ka ashray lekar unase apani man:-kamana trpt aur tusht karate hain…………

Description about eBook : Humans only want happiness, peace and prosperity. There are two types of people seeking this kind of comfort and prosperity – one that satisfies them with material happiness and prosperity, and they also get favored comfort from them. The second type of saints are those who want to get spiritual happiness ie eternal happiness instead of material happiness and prosperity. Those people who also get physical pleasure and prosperity also want to apply them in the welfare of others. To achieve the desired comfort, happiness and prosperity, some people do chanting, worshiping, havan-rituals etc., or by taking shelter of other powers, they have their mind-satisfaction and favors……………….

“कहे और लिखे गए शब्दों में सबसे दुखद हैं – ‘ऐसा हो सकता था’।” जॉन ग्रीनलीफ व्हिटियर
“Of all the words of tongue and pen – the saddest are these -’It might have been’.” John Greenleaf Whittier

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

2 thoughts on “तंत्र विज्ञान और साधना : आचार्य सीताराम चतुर्वेदी द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक – तंत्र मन्त्र | Tantra Vigyan Aur Sadhana : by Acharya Sitaram Chaturvedi Hindi PDF Book – Tantra Mantra”

Leave a Comment