तुलसी के अध्ययन की नई दिशाएं : रामप्रसाद मिश्र द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – साहित्य | Tulsi Ke Adhyayan Ki Nayi Dishayen : by Ramprasad Mishra Hindi PDF Book – Literature (Sahitya)

Book Nameतुलसी के अध्ययन की नई दिशाएं / Tulsi Ke Adhyayan Ki Nayi Dishayen
Author
Category, ,
Language
Pages 196
Quality Good
Size 47 MB
Download Status Available

तुलसी के अध्ययन की नई दिशाएं पीडीऍफ़ पुस्तक का संछिप्त विवरण : मर्यादा तुलसीदास के व्यक्तित्व की ज्योति थी। अस्थायी महत्त्व के विभाजक खर-घोषों से मुक्त होकर वे व्यक्ति, समाज, राष्ट्र एवं मानवता के लिए प्रशांत-गहन मर्यादा-पथ प्रशस्त करना चाहते थे। मध्यकालीन भक्तों में उनका स्वर सर्वाधिक उदात्त, सर्वाधिक प्रशांत एवं सर्वाधिक कलासंपन्न था। उनकी….

Tulsi Ke Adhyayan Ki Nayi Dishayen PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Maryada Tulasidas ke vyaktitv ki jyoti thi. Asthayi Mahattv ke vibhajak khar-ghoshon se mukt hokar ve vyakti, samaj, Rashtra evan manavata ke liye prashant-gahan maryada-path prashast karana chahate the. Madhyakaleen bhakton mein unaka svar sarvadhik udatt, sarvadhik prashant evan sarvadhik kalasampann tha. Unaki……

Short Description of Tulsi Ke Adhyayan Ki Nayi Dishayen Hindi PDF Book : Maryada was the light of Tulsidas’s personality. Freed from the divisive weeds of temporary importance, he wanted to pave the way for the Pacific-deep decorum for man, society, nation and humanity. His voice was most sublime, most pacific and most artistic among medieval devotees. Their ……

 

“विद्या और अक्लमंदी को एक मानने की भूल न करें। पहली आपको जीविका अर्जन में मदद करती है; और दूसरी जीवन निर्माण में।” ‐ सैंड्रा केरी
“Never mistake knowledge for wisdom. One helps you make a living; the other helps you make a life.” ‐ Sandra Carey

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment