ऊदबिलाव और भेक : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Udbilav Aur Bhek : Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Nameऊदबिलाव और भेक / Udbilav Aur Bhek
Author
Category, , , ,
Language
Pages 23
Quality Good
Size 9 MB
Download Status Available

ऊदबिलाव और भेक का संछिप्त विवरण : मधुमक्खी सेनापति अपनी बात पूरी भी न कर पायी थी कि जंगली सूभर बोल पड़ा, तुम्हारे जैसे भुनगों से कौन डरने वाला है । मैं अभी तुम्हें मजा चखाता हूं ! ” इसके साथ ही वह मधु मधुमक्खी-सेनापति पर टूट पड़ा। धावा बोलो, सेनापति ने मधुमक्खी सैनिकों को आदेश दिया……..

Udbilav Aur Bhek PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Madhumakkhi Senapati apni bat poori bhi na kar payi thi ki jangali soobhar bol pada, tumhare jaise bhunagon se kaun darne vala hai. Main abhi tumhen maja chakhata hoon ! ” Iske sath hi vah madhu madhumakkhi-senapati par toot pada. Dhava bolo, senapati ne madhumakkhi sainikon ko aadesh diya……..
Short Description of Udbilav Aur Bhek PDF Book : The bee commander could not even fulfill his word that the wild rose said, who is going to be afraid of beetles like you. I’m just enjoying you! With this, he broke down on the honey bee-commander. Come on, the commander ordered the bee soldiers…….
“जब आप शहद की खोज में जाते हैं, तो आपको मधुमक्खियों द्वारा काटे जाने की संभावना को स्वीकर कर लेना चाहिए। (सफलता के मार्ग में कठिनाईयों का आना स्वभाविक ही है)” जोसेफ जोबर्ट
“When you go in search of honey you must expect to be stung by bees.” Joseph Joubert

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment