वोल्गा से गंगा – राहुल सांकृत्यायन द्वारा मुफ्त ऐतिहासिक हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Volga Se Ganga : by Rahul Sanskrityayan Free Historical Hindi PDF Book

पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name वोल्गा से गंगा / Volga Se Ganga
Author
Category, ,
Language
Pages 384
Quality Good
Size 15 MB
Download Status Available
वोल्गा से गंगा का संछिप्त विवरण : मानव आज जहाँ है, वहां प्रारम्भ में ही नहीं पहुँच गया था, इसके लिए उसे बड़े बड़े संघर्षों से गुजरना पड़ा| मानव समाज की प्रगति का सैद्धान्तिक विवेचन मैंने अपने ग्रन्थ “मानव समाज” में किया है| इसका सरल चित्रण भी किया जा सकता है, और उससे प्रगति के समझने में आसानी हो सकती हैं, इसी ख्याल ने मुझे “वोल्गा से गंगा” लिखने के लिए मजबूर किया| मैंने यहाँ से हिन्दी-यूरोपीय जाति को लिया है, जिसमें भारतीय पाठकों को सुभीता होगा…………..
Volga Se Ganga PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Manav Aaj jahan hai, vahan prarambh mein hi nahin pahunch gaya tha, isake liye use bade bade sangharshon se gujarana pada. Manav samaj ki pragati ka saiddhantik vivechan mainne apane granth “manav samaj” mein kiya hai. Iska saral chitran bhi kiya ja sakata hai, aur usase pragati ke samajhane mein aasani ho sakati hain, isi khyal ne mujhe “volga se ganga” likhane ke liye majboor kiya. Mainne yahan se hindi-Europiy jati ko liya hai, jisamen bharatiya pathakon ko subheeta hoga…………..
Short Description of Volga Se Ganga PDF Book : The human being has not reached the beginning where it is today, for which he had to undergo major conflicts. I have done theological explanation of the progress of human society in my book “Human Society”. It can also be illustrated with simplicity, and it can be easy to understand progress, this thought forced me to write “Ganga from Volga”. I have taken Hindi-European nation from here, in which Indian readers will be well-educated………………
“जोखिम उठाइये! पूरी जिंदगी एक जोखिम है। सबसेआगे निकलने वाला व्यक्ति सामान्यतया वह होता है जो कर्म और दुस्साहस के लिए इच्छुक रहता है।” ‐ डेल कार्नेगी
“Take a chance! All life is a chance. The man who goes the furthest is generally the one who is willing to do and dare.” ‐ Dale Carnegie

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment