क्या हो अगर आप दुनिया की सारी किताबें पढ़ लें? | What if you read all the books Available in the World?

Category, , , ,
पुस्तक का डाउनलोड लिंक नीचे हरी पट्टी पर दिया गया है|
“अच्छा स्वास्थ्य यदि बोतल में मिलता तो सभी हृष्ट-पुष्ट होते। व्यायाम करें।” ‐ चेर
“Fitness, if it came in a bottle, everybody would have a great body. Go for exercise.” ‐ Cher

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

क्या हो अगर आप दुनिया की सारी किताबें पढ़ लें? | What if you read all the books Available in the world?

44Books.com पुस्तक प्रेमियों की एक चहेती वेबसाइट है यहाँ आने वाले हर पाठक को पढने योग्य कई पुस्तकें प्राप्त हो जाती हैं| यूँ तो सबकी अलग अलग रूचि होती है विषय पढने की लेकिन क्या हो यदि कोई व्यक्ति विश्व की सारी पुस्तकें पढ़ ले| प्रश्न से जिज्ञासा तो हुई होगी हम आपको आज समझाने की कोशिश करेंगे कि क्या होगा यदि कोई दुनिया की सारी किताबें या पुस्तकें पढ़ ले| सबसे पहली बात तो ये है ऐसा करना नामुमकिन है क्योंकि एक वेबसाइट के अनुसार वर्ष 2010 के आसपास पुरे विश्व में लगभग 120000000+(12 करोड़+) थी जाहिर है कि वर्तमान में यानि वर्ष 2021 में यह संख्या बढकर लगभग 1000000000+ (एक अरब+) हो चुकी है| ये सटीक आंकड़े नहीं हैं कम ज्यादा हो सकते हैं| लेकिन फिर भी यदि कोई व्यक्ति इस टास्क को पूरा करता है और विश्व की सारी किताबें अच्छे से पढ़ लेता है और समझ लेता है तो वह ईश्वर तुल्य हो जायेगा जी हाँ वह व्यक्ति परमेश्वर के समान हो सकता है या बन सकता है |

अब आप सोचेंगे कि ऐसा कैसे पॉसिबल है बिलकुल ऐसा ही होगा उसका कारण है ज्ञान| प्राचीन काल में राजकुमार सिद्धार्थ ने ज्ञान प्राप्त किया भगवान बुद्ध कहलाये कारण क्या था ज्ञान उनका ज्ञान इसी दुनिया का था लोक परलोक में क्या अंतर है सत्य क्या है भूत, भविष्य, वर्तमान क्या है यह सब उन्हें ज्ञात हो चुका था सिर्फ ज्ञान ग्रहण करने से हां ये बात अलग है कि ये जितने महापुरुष हुए प्राचीन काल में इनको ज्ञान चिंतन मनन करने से प्राप्त हुआ| महावीर स्वामी जी ने भी ज्ञान प्राप्त किया और अपने धर्म के परमेश्वर बन गए सिर्फ इतना ही नहीं इन्होने अपने अलग धर्म भी स्थापित किये | भगवान श्री कृष्ण जो मानव रूप में प्रथ्वी पर अवतरित हुए उन्होंने इतनी लीलाएं की महाभारत करवाई और न्याय किया वो भी खुद बिना शस्त्र चलाये भगवद्गीता के उपदेश दिए कैसे? ज्ञान के कारण|

हो सकता कि आप में से कुछ लोग इस बात से सहमत ना हों तो चलिए हम आपको कुछ वर्तमान के साक्ष्यों के बारे में बताते हैं- सबसे पहले हम भारतीय व्यक्ति की ही बात करते हैं धीरुभाई अम्बानी और उनके बेटे मुकेश अम्बानी इस समय भारत के सबसे अमीर आदमी हैं कारण क्या है सर? ज्ञान, नॉलेज जो किताबें पढ़ के और समझ के आती है| अब हम बात करते हैं प्रसिद्ध निवेशक Warren Buffett वारेन बुफे के बारे वारेन बुफे अपने दिन का 80% हिस्सा किताबें पढने में देते हैं कारण साफ़ है ज्ञान और इसी ज्ञान के कारण आज वे दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों की श्रेणी में हैं| आप किसी भी प्रसिद्ध व्यक्ति को लेलिजिये जैसे- Elon Musk एलोन मस्क , Jeff Bezos जेफ बेजोस, Bernard Arnault & family बर्नार्ड अरनॉल्ट एंड फैमिली, Bill Gates बिल गेट्स, Mark Zuckerberg मार्क जुकरबर्ग, Larry Page लैरी पेज, Larry Ellison लैरी एलिसन, Sergey Brin सर्गेई ब्रिन, Mukesh Ambani मुकेश अंबानी, ये सभी लोग अपना अधिकांश समय किताबें पढने में देते हैं और परिणाम यह कि ये सभी अपने आप में सर्वेसर्वा हैं ये किसी का भी तख्तापलट कर सकते हैं सारी दुनिया लगभग इन्हीं के हिसाब से चलती है |
तो अब जरा सोचिये कि आपने विश्व की सारी पुस्तकें पढली और समझ ली तो आपको इन सभी से कई गुना ज्यादा ज्ञान प्राप्त हो जायेगा और आप जो चाहे वो करने का सामर्थ्य प्राप्त कर लेंगे|

क्योंकि यह एक बहुत बड़ा विषय है इसलिए इस पोस्ट में समय समय पर जानकारी अपडेट की जाएगी कृपया 44Books.com के साथ बने रहें

 

प्रिय पाठकों! आप इस पोस्ट से सहमत हैं या नहीं या आपके क्या विचार हैं या सुझाव हैं हमें अवश्य बताएं हम आपके विचार आपके नाम के साथ इस पोस्ट में जोड़ेंगे धन्यवाद|

 

आपके सुझाव और सहयोग की हमें प्रतीक्षा रहेगी…

Leave a Comment