विज्ञान तकनीकी और पर्यावरण : प्रेमचन्द श्रीवास्तव द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – पर्यावरण | Vigyan Takaniki Aur Paryavaran : by Prem Chand Shrivastav Hindi PDF Book – Environment (Paryavaran)

विज्ञान तकनीकी और पर्यावरण : प्रेमचन्द श्रीवास्तव द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - पर्यावरण | Vigyan Takaniki Aur Paryavaran : by Prem Chand Shrivastav Hindi PDF Book - Environment (Paryavaran)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name विज्ञान तकनीकी और पर्यावरण / Vigyan Takaniki Aur Paryavaran
Author
Category, , ,
Language
Pages 121
Quality Good
Size 23.4 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : आजकल पर्यावरण प्रदूषण मानव समाज के समक्ष एक बहुत बड़ी समस्या है | वैसे तो यह समस्या बहुत नवीन नहीं है | पर्यावरण को कुछ न कुछ सीमा तक तो मानव स्वयं अतीत काल से प्रदूषित करता आया है तथा प्राचीन भारतीय मनीषी इस प्रदूषण से बचाव की दिशा में सावधान भी रहे है | उन्होंने समय-समय पर वायशोधन एवं जलशोधन………………….

Pustak Ka Vivaran : Aajakal paryavaran pradoushan manav samaj ke samaksh ek bahut badi samasya hai. Vaise to yah samasya bahut naveen nahin hai . Paryavaran ko kuchh na kuchh seema tak to manav svayan ateet kal se pradooshit karata aaya hai tatha pracheen bharateey maneeshi is pradooshan se bachav ki disha mein savadhan bhi rahe hai. Unhonne samay-samay par vayushodhan evan jalashodhan…………

Description about eBook : Nowadays environmental pollution is a big problem in front of human society. Well this problem is not very new. To some extent the environment has been polluting the environment from time to time, and ancient Indian intellectuals have also been careful in preventing this pollution. From time to time, air purification and water purification………………

“एक पुरुष का चेहरा उसकी आत्म-कथा है। एक महिला का चेहरा उसकी कल्पित-कथा है।” ‐ ऑस्कर वाइल्ड
“A man’s face is his autobiography. A woman’s face is her work of fiction.” ‐ Oscar Wilde

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment