भूतनाथ भाग 3 : बाबू देवकीनन्दन खत्री द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Bhootnath Part 3 : by Babu Devakinandan Khatri Hindi PDF Book – Novel (Upanyas)

Book Nameभूतनाथ भाग 3/ Bhootnath Part 3
Author
Category, , ,
Language
Pages 63
Quality Good
Size 8.5 MB

पुस्तक का विवरण : मुसाफिर : डरो मत, मैंने तुम्हें किसी बुरी नीयत से नहीं ढूँढ़ा है, ये लोग तुम्हें वहाँ जंगल में छोड़कर भागे जाते थे, इसीलिए मैंने सभी को रोक लिया और कहा कि अपने साथी को खोज कर अपने साथ लिए जाओ। अब तुम बेखौफ होकर अपने दोस्तों के साथ अपनी प्यारी नागर के पास चले जाओ, मुझसे विलकुल मत डरो। मुसाफिर की बातों से वाबू साहव को कुछ ढाँढस हुई, वे सम्हल कर उठ खड़े हुए और मुसाफिर से कुछ कहा ही चाहते……..

Pustak Ka Vivaran : Musaphir : Daro mat, mainne tumhen kisi buri neeyat se nahin dhoondha hai, ye log tumhen vahan jangal mein chhodakar bhage jate the, isiliye mainne sabhi ko rok liya aur kaha ki apane sathi ko khoj kar apane sath liye jao. Ab tum bekhauph hokar apane doston ke sath apni pyari nagar ke pas chale jayo, mujhase vilakul mat daro. Musaphir ki baton se Babu sahav ko kuchh dhandhas huyi, ve samhal kar uth khade huye aur musaphir se kuchh kaha hi chahate……..

Description about eBook : Traveler: Do not be afraid, I have not searched you with any evil intention, these people used to run away leaving you there in the forest, that’s why I stopped everyone and said that find your companion and take it with you. Now you fearlessly go with your friends to your beloved Nagar, don’t be afraid of me at all. Vabu Sahav got some consolation from the words of the traveler, he stood up calmly and wanted to say something to the traveler………..

“एक मनुष्य बहुत ही परिश्रमी हो कर भी हो सकता है अपने समय को सही तरीके से नहीं बिता रहा हो। इससे अधिक दुखद भूल करने वाला कोई नहीं हो सकता जो अपने जीवन का अधिकांश समय जीविका कमाने में व्यय कर दे।” ‐ हेनरी डेविड थोरो (१८१७-१८६२), लेखक
“A man may be very industrious, and yet not spend his time well. There is no more fatal blunderer than he who consumes the greater part of life getting his living.” ‐ Henry David Thoreau, naturalist and author (1817-1862)

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment