अफ़नासी निकीतन की भारत यात्रा : व्लादिमीर प्रिबीत्कोव | Afanasy Nikitin Ki Bharat Yatra : Vladimir Pribitkov Hindi PDF Book

Author
Category, ,
Language
पुस्तक का डाउनलोड लिंक नीचे हरी पट्टी पर दिया गया है|
“आईने में झांकिए और अपने आप से पूछिये कि बाकी के जीवन में आप क्या करना चाहते हैं। और फिर वही करें।” ‐ गेरी वैनरचक
“Look yourself in the mirror and ask yourself “What do I want to do for the rest of my life?” Do that.” ‐ Gary Vaynerchuk

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

अफ़नासी निकीतन की भारत यात्रा : व्लादिमीर प्रिबीत्कोव द्वारा हिंदी पीडीऍफ पुस्तक | Afanasy Nikitin Ki Bharat Yatra : by Vladimir Pribitkov Hindi PDF Book

( Download Link Given Below / डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया हैं )

afanasy-nikitin-ki-bharat-yatra-vladimir-pribitkov-अफ़नासी-निकीतन-की-भारत-यात्रा-व्लादिमीर-प्रिबीत्कोव

पुस्तक का नाम / Name of Book : अफ़नासी निकीतन की भारत यात्रा / Afanasy Nikitin Ki Bharat Yatra

पुस्तक के लेखक / Author of Book : व्लादिमीर प्रिबीत्कोव / Vladimir Pribitkov

पुस्तक की भाषा / Language of Book : हिंदी / Hindi

पुस्तक का आकर / Size of Ebook : 900.0 MB

कुल पन्ने / Total pages in ebook : 608

पुस्तक डाउनलोड स्थिति / Ebook Downloading Status  : Best 

(Report this in comment if you are facing any issue in downloading / कृपया कमेंट के माध्यम से हमें पुस्तक के डाउनलोड ना होने की स्थिति से अवगत कराते रहें )

पुस्तक का विवरण : बात सन १४६६ के वसंत की है| त्वेर का एक धनी व्यापारी, वसीली काशीन, व्यापारियों के संरक्षक, सेंट निकोलई के गिरजे से निकला ही था कि उसे कोई प्रेत जैसी आकृति दिखाई पड़ी| यध्यपि मौसम नम और गर्म था फिर भी वह आकृति फेल्ट के बूट, भेड़ की खाल का बड़ा कोट और कुत्ते के फ़र की टोपी पहने थी|………….

इतिहास से सम्बंधित अन्य पुस्तकों के लिए यहाँ दबाइए-  “हिंदी ऐतिहासिक पुस्तक”

Description about eBook : he thing is the spring of 1466. A wealthy trader from Tavera, Vasily Kashin, the patron of traders, had come out of the church of St. Nicolai that he had a ghostlike shape. Although the weather was damp and warm, the figure was still wearing a fist boot, a large coat of sheep skin and a dog’s hat cap…………….

To read other History books click here- “Hindi Historical Books”


सभी हिंदी पुस्तकें ( Free Hindi Books ) यहाँ देखें



इस पुस्तक को दुसरो तक पहुचाएं 

श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें 

One Quotation / एक उद्धरण
“अगर आप अपने आप से मित्रता कर लें तो आप कभी अकेला नहीं महसूस करेंगे।”
– मैक्सवेल माल्ट्ज


——————————–

“If you make friends with yourself you will never be alone.” 
– Maxwell Maltz

Leave a Comment