अनासक्ति योग और गीता बोध : मोहनदास करमचंद गांधी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Anasakti Yog Aur Geeta Bodh : by Mohandas Karamchand Gandhi Hindi PDF Book – Social (Samajik)

Book Nameअनासक्ति योग और गीता बोध / Anasakti Yog Aur Geeta Bodh
Author
Category, , , ,
Language
Pages 324
Quality Good
Size 3.7 MB

पुस्तक का बिबरण : गीता को मैंने जैसा समझा है उसी तरह उसका आचरण करने का मेरा और मेरे साथ रहनेवालों में से कई को बराबर उदयोग रहा है। गीता हमारे लिए आध्यात्मिक निदानप्रन्थ है। उसके अनुसार आचरण करने में निष्फलता नित्य आती है, पर यह निष्फलता हमारा प्रयत्न रहते हुए है……..

Pustak Ka Vivaran : Gita ko mainne jaisa samajha hai usi tarah usaka acharan karane ka mera aur mere sath rahanevalon mein se ka ko barabar udyog raha hai. Gita hamare lie adhyatmik nidanapranth hai. Usake anusar acharan karane mein nishphalata nity ati hai, par yah nishphalata hamara prayatn rahate hue hai………….

Description about eBook : As I have understood the Gita, many of my people and those living with me have behaved in a similar way to conduct it. Geeta is our spiritual diagnosis. According to him, failure is always in vain, but this failure is in our endeavors………….

“मिलझुल कर काम करने के साथ खास बात यह है कि आपके पक्ष में हमेशा और भी लोग होते हैं।” – मार्गरेट कार्टी
“The nice thing about teamwork is that you always have others on your side.” – Margaret Carty

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment