सभी मित्र, हस्तमैथुन के ऊपर इस जरूरी विडियो को देखे और नाम जप की शक्ति को अपने जीवन का जरुरी हिस्सा बनाये
वीडियो देखें

हिंदी संस्कृत मराठी ब्लॉग

भारत दुर्दशा / Bharat Durdasha

भारत दुर्दशा : भारतेन्दु हरिश्चद्र द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - इतिहास | Bharat Durdasha : by Bhartendu Harishchandra Hindi PDF Book - History (Itihas)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name भारत दुर्दशा / Bharat Durdasha
Author
Category, ,
Language
Pages 89
Quality Good
Size 9 MB
Download Status Available

सभी मित्र हस्तमैथुन के ऊपर इस जरूरी विडियो को देखे, ज्यादा से ज्यादा ग्रुप में शेयर करें| भगवान नाम जप की शक्ति को पहचान कर उसे अपने जीवन का जरुरी हिस्सा बनाये|

पुस्तक का विवरण : ईसा शताब्दी में हर्षबर्धन की मृत्यु के बाद भारतीय राजनीतिक जीवन छिन्न-भिन्न और अराजकतापूर्ण हो गया था और शीघ्र ही बढ़ते हुए इस्लाम धर्म के साथ भारतवर्ष पर मुसलमानी आक्रमण होने लगे। देश की अराजकतापूर्ण परिस्थिति से आक्रमणकारियों ने भरपूर लाभ उठाया और अनेक घोर युद्धों और कठिनाइयों के बाद उन्होंने अपना राज्य स्थापित ……

Pustak Ka Vivaran : Easa Shatabdi mein Harshabardhan kee mrtyu ke bad bharateey Rajneetik jeevan chhinn-bhinn aur Arajakatapoorn ho gaya tha aur sheeghr hee badhate huye islam dharm ke sath bharatavarsh par musalamani aakraman hone lage. Desh kee Arajakatapoorn paristhiti se aakramanakariyon ne bharapoor labh uthaya aur anek ghor yuddhon aur kathinaiyon ke bad unhonne apana Rajy sthapit…………

Description about eBook : After Harsha Bardhan’s death in the Christian century, Indian political life had become disjointed and chaotic and soon Muslims began to attack India with the growing Islam religion. The invaders took full advantage of the chaotic situation of the country and after many fierce wars and difficulties, they established their kingdom…………

“हमारी पहचान हमेशा हमारे द्वारा छोड़ी गई उपलब्धियों से होती है।” ‐ अमरीकी कहावत
“We will be known forever by the tracks we leave.” ‐ American proverb

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Leave a Comment