भारत विखण्डन : राजीव मल्होत्रा द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Bharat Vikhandan : by Rajiv Malhotra Hindi PDF Book – Social (Samajik)

Book Nameभारत विखण्डन / Bharat Vikhandan
Author
Category, , , , ,
Language
Pages 577
Quality Good
Size 6.4 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : इसके अलावा मैं अमरीका में विचार-मंचों, स्वतन्त्न विद्वानों, मानवाधिकार गुटों और शिक्षाविदों के साथ अनेक वाद-विवादों में शामिल हुआ हूँ, ख़ास तौर पर भारतीय समाज के बारे में उनकी इस धारणा पर कि यह एक ऐसा अनिष्टकारी समाज है जिसे पश्चिम को ही “सभ्य” बनाना है। मैंने एक शब्दावली गढ़ी – जाति, गौ, और रसेदार सालन” ताकि विदेशियों द्वारा……

Pustak Ka Vivaran : Isake Alava main Amarica mein vichar-Manchon, svatantr vidvanon, Manavadhikar Guton aur Shikshavidon ke sath anek vad-vivadon mein shamil huya hoon, khas taur par bharatiy samaj ke bare mein unaki is dharana par ki yah ek aisa Anishtakari samaj hai jise pashchim ko hi “Sabhy” banana hai. Mainne ek Shabdavali Gadhi – jati, gau, aur Rasedar salan” Taki Videshiyon dvara……….

Description about eBook : Apart from this, I have been involved in many debates in the US with think-tanks, independent scholars, human rights groups and academics, especially on their perception of Indian society that this is a disastrous society which the West itself To make “civilized”. I coined a vocabulary – caste, cow, and juicy salan ”so that foreigners……….

“एकमात्र व्यायाम से ही मन की वृत्तियों को सहायता मिलती है, तथा इसी से मस्तिष्क तरोताजा बना रहता है।” सीसेरो
“It is exercise alone that supports the spirit, and keeps the mind in vigour.” Cicero

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment