भारतीय दर्शनशास्त्र का इतिहास : देवराज और गोपी नाथ कविराज द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Bharatiya Darshanshastra Ka Itihas : by Devraj And Gopi Nath Kaviraj Hindi PDF Book

भारतीय दर्शनशास्त्र का इतिहास : देवराज और गोपी नाथ कविराज द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Bharatiya Darshanshastra Ka Itihas : by Devraj And Gopi Nath Kaviraj Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name भारतीय दर्शनशास्त्र का इतिहास / Bharatiya Darshanshastra Ka Itihas
Author,
Category, ,
Pages 436
Quality Good
Size 14.40 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : जो अपने व्यक्तित्व का अग होते हुए भी अपने-से भिन्‍न कहे और समझे जाते हैं, उन विश्ववदय दार्शनिकों के विचारों के इस संकलनात्मक ग्रन्थ के लिए मै उन्हीं को धन्यवाद क्या दु, पर सबसे ज़्यादा तो यह पुस्तक उन्हीं की है। उनके अतिरिक्त, सहायक ग्रन्थों की सूची ‘ में जिन-जिन विद्वान लेखकों के नाम हैं, उन सब का मैं ऋणी हैं………

Pustak Ka Vivaran : Jo apane vyaktitv ka ag hote hue bhi apane-se bhinn kahe aur samajhe jate hain, un vishvavady darshanikon ke vicharon ke is sankalanatmak granth ke lie mai unhin ko dhanyavad kya du 1 par sabase zyada to yah pustak unhin ki hai. Unake atirikt, sahayak granthon ki soochi mein jin-jin vidvan lekhakon ke nam hain, un sab ka main rni hain………….

Description about eBook : I am thankful to him for this compilation of the ideas of those world-class philosophers who, even though they are different from their own personality, are considered to be the same. Apart from him, I am indebted to all those who are the names of the scholars who have names in the list of subsidiaries……………

“बच्चों को शिक्षित करना तो ज़रूरी है ही, उन्हें अपने आपको शिक्षित करने के लिए छोड़ देना भी उतना ही ज़रूरी है।” ‐ अर्नेस्ट डिमनेट
“Children have to be educated, but they have also to be left to educate themselves.” ‐ Ernest Dimnet

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment