बूढ़े भेड़िये की दावत : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Boodhe Bhediye Ki Dawat : Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Nameबूढ़े भेड़िये की दावत / Boodhe Bhediye Ki Dawat
Author
Category, , , ,
Language
Pages 39
Quality Good
Size 12 MB
Download Status Available

बूढ़े भेड़िये की दावत का संछिप्त विवरण : किसी जंगल में एक भेड़िया रहता था। एक दिन दो मुर्गियां उसके हाथ आ गई, जिसमे उसकी ख़ुशी का ठिकाना न रहा और वह मुंह ही मुंह बुदबुदा पड़ा “मेरी किस्मत कितनी अच्छी है ! घर जाकर मैं अपने साथ मुर्गियां खाने के लिए भालू भैया को आमंत्रित करूँ-गा। पेड़ के पीछे छिपी एक लोमड़ी ने भेड़िये की आवाज सुन ली और दबे पांव वह भी………..

Boodhe Bhediye Ki Dawat PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Kisi Jangal mein Ek Bhediya rahata tha. Ek din do Murgiyan usake hath aa gayi, jisame usaki khushi ka thikana na raha aur vah munh hee munh budabuda pada meri kismat kitani achchhi hai ! Ghar Jakar main apane sath Murgiyan khane ke liye bhaloo bhaiya ko Aamantrit karunga. Ped ke peechhe chhipi ek lomri ne bhediye kee Aavaj sun lee aur dabe panv vah bhi………..
Short Description of Boodhe Bhediye Ki Dawat PDF Book : A wolf lived in a forest. One day, two chickens came in his hand, in which he was not happy and he mumbled. “How good is my luck!” Going home, I would invite Bear Brother to eat chickens with me. A fox hiding behind the tree heard the voice of the wolf and was buried under his feet ……….
“आपदा में ही सिद्धांत की परीक्षा होती है। उसके बिना व्यक्ति को अपनी नेकी का ज्ञान ही नहीं हो पाता है।” हेनरी फील्डिंग
“Adversity is the trial of principle. Without it, a man hardly knows whether he is honest or not.” Henry Fielding

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment