चंद्रगुप्त मौर्य (बृहत्तर भारत का निर्माता) : दिलीप कुमार लाल द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – जीवनी | Chandragupt Maurya (Brahttar Bharat Ka Nirmata) : by Dilip Kumar Lal Hindi PDF Book – Biography (Jeevani)

Book Nameचंद्रगुप्त मौर्य (बृहत्तर भारत का निर्माता) / Chandragupt Maurya (Brahttar Bharat Ka Nirmata)
Author
Category, , , , ,
Language
Pages 86
Quality Good
Size 1 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : चंद्रगुप्त की बातों से चाणक्य हैरान थे। उन्होंने साथ में खेल रहे बच्चों से उनका परिचय पूछा। उन बच्चों ने कहा कि जब यह माँ के गर्भ में था, तभी इसकी माँ ने इसे किसी सन्यासी को सौंप देने का संकल्प किया था। चाणक्य ने भी गाँव में आने का उद्देश्य बताया। उनकी बातों से चंद्रगुप्त भी प्रसन्‍न हो गए। चाणक्य ने वचन दिया कि वे उसे……

Pustak Ka Vivaran :  Chandragupt ki Baton se Chanaky hairan the. Unhonne sath mein khel rahe bachchon se unka parichay poochha. Un Bachchon ne kaha ki jab yah man ke garbh mein tha, tabhi iski Man ne ise kisi Sanyasi ko saump dene ka sankalp kiya tha. Chanaky ne bhi Ganv mein aane ka uddeshy bataya. Unki baton se Chandragupt bhi prasan‍na ho gaye. Chanaky ne vachan diya ki ve use………..

Description about eBook : Chanakya was surprised by Chandragupta’s words. He asked his introduction to the children playing together. Those children said that when it was in the mother’s womb, only then its mother had resolved to hand it over to a sannyasi. Chanakya also told the purpose of coming to the village. Chandragupta was also pleased with his words. Chanakya promised that he would give her………..

“जब आप अपने मित्रों का चयन करते हैं तो चरित्र के स्थान पर व्यक्तित्व को न चुनें।” ‐ डब्ल्यू सोमरसेट मोघम
“When you choose your friends, don’t be short-changed by choosing personality over character.” ‐ W. Somerset Maugham

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment