चरण दास जी की बनी (भाग 2) हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Charan Das Ji Ki Bani (Part 2) Hindi PDF Book

Book Nameचरण दास जी की बनी (भाग 2) / Charan Das Ji Ki Bani (Part 2)
Author
Category, ,
Language
Pages 70
Quality Good
Size 2.6 MB
Download Status Available

चरण दास जी की बनी (भाग 2) का संछिप्त विवरण : संतावनी पुस्तक माला के छापने का अभिप्राय जगत प्रसिद्ध महात्माओं की बानी और उपदेश को जिनका लोप होता जाता है बचा लेने का है। जितनी बानियाँ हमने छापी ही नहीं थी और जो छपी भी थी सो प्रायः ऐसे भिन्न भिन्न और बेजोड़ रूप मे या त्रुटि से भरी हुई की उन से पूरा लाभ नहीं उठ सकता था। हमने देश देशांतर से बड़े परिश्रम और व्य्य के साथ हथलिखित…….

Charan Das Ji Ki Bani (Part 2) PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Santaavanee pustak maala ke chhaapane ka abhipraay jagat prasiddh mahaatmaon kee baanee aur upadesh ko jinaka lop hota jaata hai bacha lene ka hai. jitanee baaniyaan hamane chhaapee hee nahin thee aur jo chhapee bhee thee so praayah aise bhinn bhinn aur bejod roop me ya truti se bharee huee kee un se poora laabh nahin uth sakata tha. hamane desh deshaantar se bade parishram aur vyya ke saath hathalikhit………….
Short Description of Charan Das Ji Ki Bani (Part 2) PDF Book : The purpose of printing of Satavahana book Mala is to save the Bani and preaching of famous Mahatmas who are eliminated. The stories that we had not printed and which were also printed, were often filled with such different and unmatched form or errors that did not fully benefit from them. We handwritten with great diligence and expenditure from country long…………..
“हमेशा तर्क करने वाला दिमाग सिर्फ धार वाले चाकू की तरह है जो प्रयोग करने वाले के हाथ से ही खून निकाल देता है।” रवीन्द्रनाथ टैगोर
“A mind all logic is like a knife all blade. It makes the hand bleed that uses it.” Rabindranath Tagore

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment