चीन में जोतने वालों को जमीन कैसे मिली : सिआओ चिऐन द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – इतिहास | Chine Mein Jotane Valon Ki Jameen Kaise Mili : by Ciao Chien Hindi PDF Book – History (Itihas)

Book Nameचीन में जोतने वालों को जमीन कैसे मिली / Chine Mein Jotane Valon Ki Jameen Kaise Mili
Author
Category, , , , ,
Pages 162
Quality Good
Size 11 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : आज इंसानियत इतिहास के जिस दौर से गुजर रही है उसमें समाजशास्त्र के विद्यार्थी को सही नतीजे निकालने के लिये मसाले की कमी नहीं है । वह देख सकता है कि चीन के खेतों और रूस के कारखानों में काम करने वाली इंसानियत सिर्फ खाना कपड़ा ही नहीं पैदा कर रही, वह सदाचार और नेतिकता में भी इतिहास की अगली म॑ज़िल में कदम रख चुकी है। वह देख सकता है कि जेकोस्लो…..

Pustak Ka Vivaran : Aaj Insaniyat itihas ke jis daur se Gujar rahi hai usamen samajashastra ke vidyarthi ko sahi nateeje nikalane ke liye masale ki kami nahin hai . Vah dekh sakata hai ki chine ke kheton aur Rusia ke karkhanon mein kam karane vali insaniyat sirph khana kapada hi nahin paida kar rahi, vah sadachar aur netikata mein bhi itihas ki agali manzil mein kadam rakh chuki hai. Vah dekh sakata hai ki jekoslo………..

Description about eBook : Today, in the period of human history that is going through, there is no shortage of spices for the students of Sociology to get the right results. He can see that humanity working in the fields of China and factories in Russia is not only producing food cloth, it has also entered the next stage of history in ethics and morality. He can see that Jekoslo ………..

“एक दिन कितना अच्छा होता है? जितना अच्छे से आप उसे गुज़ारते हैे। एक मित्र में कितना प्रेम होता है? निर्भर करता है आप उन्हें कितना देते हैं।” – शेल सिल्वरस्टाइन
“How much good inside a day? Depends how good you live ‘em. How much love inside a friend? Depends how much you give ‘em.” – Shel Silverstein

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment