गोल्डा मियर का पहला संघर्ष : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Golda Meier Ka Pahla Sangharsh : Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

गोल्डा मियर का पहला संघर्ष : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - बच्चों की पुस्तक | Golda Meier Ka Pahla Sangharsh : Hindi PDF Book - Children's Book (Bachchon Ki Pustak)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name गोल्डा मियर का पहला संघर्ष / Golda Meier Ka Pahla Sangharsh
Author
Category, ,
Language
Pages 16
Quality Good
Size 2.6 MB
Download Status Available

गोल्डा मियर का पहला संघर्ष का संछिप्त विवरण : लेकिन मेरे तमाम प्रयासों के बावजूद, सप्ताह के अंत तक क्लारा और मैं अभी भी अपने हिस्से के पैसे नहीं जुगाड़ पाए थे. उस समूह के अध्यक्ष के रूप में, मैंने अपने विकल्पों को सूचीबद्ध किया: मैं बच्चों की गणित सीखने में मदद कर सकती थी, लेकिन किसी भी बच्चे के पास ट्यूशन के लिए पैसे नहीं थे. मैं किसी दुकान में एक जूनियर सेल्स-गर्ल के रूप में नौकरी कर सकती थी, लेकिन माँ को स्कूल से पहले मेरी ज़रूरत थी. स्कूल के बाद क्लारा……..

Golda Meier Ka Pahla Sangharsh PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Lekin Mere Tamam prayason ke bavjood, saptah ke ant tak Clara aur main abhi bhi apne hisse ke paise nahin jugad paye the. Us Samooh ke adhyaksh ke roop mein, mainne apane vikalpon ko soochibaddh kiya: main bachchon ki ganit seekhane mein madad kar sakti thee, lekin kisi bhi bachche ke pas tyooshan ke liye paise nahin the. Main kisi dukan mein ek joonior sels-garl ke roop mein naukari kar sakatee thee, lekin man ko school se pahale meri zaroorat thi. School ke bad Clara
Short Description of Golda Meier Ka Pahla Sangharsh PDF Book : But despite my best efforts, by the end of the week, Clara and I still hadn’t managed to get our share of the money. As the group’s president, I listed my options: I could help the kids learn maths, but none of the kids had money for tuition. I could have worked as a junior sales-girl in a shop, but my mother needed me before school. Clara after school…….
“अड़चनें वे भयानक चीजें हैं जो आपको मंजिल से अपनी दृष्टि हटा लेने पर दिखाई देती हैं।” हेनरी फॉर्ड
“Obstacles are those frightful things you see when you take your eyes off the goal.” Henry Ford

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment