हम भारत के लोग (संविधान की कल्पना का भारत) : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Ham Bharat Ke Log (Sanvidhan Ki Kalpana Ka Bharat) : Hindi PDF Book – Social (Samajik)

Book Nameहम भारत के लोग (संविधान की कल्पना का भारत / Ham Bharat Ke Log (Sanvidhan Ki Kalpana Ka Bharat)
Category, ,
Language
Pages 19
Quality Good
Size 4 MB
Download Status Available

हम भारत के लोग (संविधान की कल्पना का भारत का संछिप्त विवरण : अन्याय के अंधकार के विरुद्ध एक लम्बे अथक संघर्ष के बाद 15 अगस्त 1947 की आधी रात को स्वतंत्र भारत का सूर्योदय हुआ। हजारों हजार भारतीय, सैकड़ों नेता स्वतंत्रता संग्राम के भागीदार बने और कुर्बानियां दी। शहादत को अंगीकार किया। स्वतंत्रता संग्रामियों ने अतुल्य बलिदान करते हुए भारत के संकटों, समस्याओं की गहराई से पड़ताल की थी। उनका संग्राम केवल अंग्रेजी हुक्मरानों की दासता के खिलाफ……..

Ham Bharat Ke Log (Sanvidhan Ki Kalpana Ka Bharat) PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Anyay ke Andhakar ke viruddh ek lambe athak sangharsh ke bad 15 agust 1947 ki aadhi rat ko svatantr bharat ka sooryoday huya. Hajaron hajar bharatiya, saikadon neta svatantrata sangram ke bhagidar bane aur kurbaniyan di. Shahadat ko angikar kiya. Svatantrata sangramiyon ne atuly balidan karate huye bharat ke sankaton, samasyaon ki Gaharayi se padtal ki thi. Unka sangram keval angreji hukmaranon ki dasata ke khilaph………
Short Description of Ham Bharat Ke Log (Sanvidhan Ki Kalpana Ka Bharat) PDF Book : After a long and relentless struggle against the darkness of injustice, the sunrise of independent India took place on the midnight of 15 August 1947. Thousands of Indians, hundreds of leaders became participants of the freedom struggle and made sacrifices. embraced martyrdom. The freedom fighters had deeply investigated India’s woes, problems while making incomparable sacrifices. His struggle was only against the slavery of the British rulers.
“कर्म सही या गलत नहीं होता है। लेकिन जब कर्म आंशिक, अधूरा होता है, सही या गलत की बात तब सामने आती है।” ‐ ब्रूस ली
“Action is not a matter of right and wrong. It is only when action is partial, not total, that there is right and wrong.” ‐ Bruce Lee

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment