होम्योपैथिक औषधियों का सजीव चित्रण : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – स्वास्थ्य | Homieopathic Aushadhiyon Ka Sajeev Chitran : Hindi PDF Book – Health (Svasthya)

Book Nameहोम्योपैथिक औषधियों का सजीव चित्रण / Homieopathic Aushadhiyon Ka Sajeev Chitran
Author
Category, , ,
Language
Pages 820
Quality Good
Size 34.5 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : यही कारण है की है। वे ३, ६ से ऊपर दवा नहीं देते क्योंकि दूसरा सम्प्रदाय उच्च-शक्ति की दवा देने वालों का है। वे ३० , २००, १००० से काम शक्ति स्थूल दवा नहीं है, यह तो क्योंकि कि उनका कहना है कि होम्योपैथिक | होम्योपैथी में दो सम्प्रदाय है। एक सम्प्रदाय निम्नशक्ति देने वालों का कि वे समझते है कि इससे ऊपर की शक्ति का दवा में दवा ही नहीं। होम्योपैथिक दवा ……

Pustak Ka Vivaran : Yahi karan hai kee homeopaithic mein do sampraday hai. Ek sampraday nimnashakti dene valon ka hai. ve 3, 6 se Upar dava nahin dete kyonki ve samajhate hai ki isase oopar ki shakti ka dava mein dava hee nahin. doosara sampraday uchch-shakti kee dava dene valon ka hai. ve 30 , 200, 1000 se kam shakti sthool dava nahin hai, yah to kyonki unaka kahana hai ki homeopaithic dava…………

Description about eBook : This is the reason that there are two sects in homeopathy. One community belongs to those who give low power. They do not give medicine above 3,9 because they understand that there is no medicine in medicine above this power. The second community is those who give high-strength medicines. They are 30 , 200, 1000, Kamakti is not gross medicine, because they say that homeopathic medicine………..

“उत्कृष्ट काम तभी कर सकते हैं जब आप अपने काम से प्रेम करें। ” -स्टीन जॉब्स
“The only way to do great work is to love what you do. ” – Steve Jobs

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment