हिंदी संस्कृत मराठी ब्लॉग

जॉन हैनरी / John Henry

जॉन हैनरी : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - बच्चों की पुस्तक | John Henry : Hindi PDF - Children's Book (Bachchon Ki Pustak)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name जॉन हैनरी / John Henry
Author
Category, ,
Language
Pages 21
Quality Good
Size 2.2 MB
Download Status Available

जॉन हैनरी का संछिप्त विवरण : जब जॉन हैनरी का जन्म हुआ तो उसे देखने के लिए हर जगह से पक्षी आए. भालू और चीते और मूज़ और हिरण और खरगोश और गिलहरियाँ और यहाँ तक की एक-सींग वाले जानवर भी उसे देखने हेतु ज॑गल से बाहर आए. और सूर्य भी अपना काम निपटा कर, बिस्तर में सोने के बजाय, चाँद के पीछे छिप गया और चाँद के लहराते कपड़ों के बीच से नये शिशु को ताकने लगा……..

John Henry PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Jab jon Henry ka janm huya to use dekhane ke liye har jagah se pakshi aaye. Bhaloo aur cheete aur mooz aur hiran aur kharagosh aur Gilahariyan aur yahan tak ki ek-seeng vale janvar bhi use dekhane hetu jangal se bahar aaye. Aur Soory bhi apna kam nipata kar, bistar mein sone ke bajay, chand ke peechhe chhip gaya aur chand ke lahrate kapadon ke beech se naye shishu ko takane laga………..
Short Description of John Henry PDF Book : When John Henry was born, birds came from everywhere to see him. Bears and leopards and moose and deer and rabbits and squirrels and even one-horned beasts came out of the woods to see him. And the sun too, having finished its work, instead of sleeping in the bed, hid behind the moon and stared at the new baby from among the moon’s waving clothes……
“प्रत्येक शिशु एक संदेश लेकर आता है कि भगवान मनुष्य को लेकर हतोत्साहित नहीं है।” – रविन्द्रनाथ टैगोर
“Every child comes with the message that God is not yet discouraged of man.” – Rabindranath Tagore

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Leave a Comment