कठघरे में : रामशरण जोशी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – साहित्य | Kathghare Mein : by Ramsharan Joshi Hindi PDF Book – Literature (Sahitya)

कठघरे में : रामशरण जोशी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - साहित्य | Kathghare Mein : by Ramsharan Joshi Hindi PDF Book - Literature (Sahitya)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name कठघरे में / Kathghare Mein
Author
Category, ,
Language
Pages 404
Quality Good
Size 30 MB
Download Status Available

कठघरे में का संछिप्त विवरण : सर्वप्रथम, मैने तय किया कि इसके माध्यम से इतिहास, शासक और जनता के रिश्तो के सबध मे पाठकों से कुछ कहा जाए, और यह आत्मकथन वैज्ञानिक चिन्तन से रिक्त नहीं होना चाहिए। अत इसमे आरम्भ से अन्त तक एक अघोषित सूत्रधार की शैली का सहारा लिया गया है। कवरेज में ‘प्रभाव” पैदा करने के लिए लाइव कॉमेटरी’ शैली का प्रयोग किया गया है। शब्दों के………..

Kathghare Mein PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Sarvapratham, maine tay kiya ki isake madhyam se itihas, shasak aur janata ke Rishto ke sabadh me pathakon se kuchh kaha jaye, aur yah Aatmakathan vaigyanik chintan se rikt nahin hona chahiye. At isame Aarambh se ant tak ek Aghoshit sootradhar ki shaili ka sahara liya gaya hai. Kavirej mein prabhav” Paida karane ke liye live Comentray shaili ka prayog kiya gaya hai. Shabdon ke………..
Short Description of Kathghare Mein PDF Book : First of all, I decided that through this, there should be something to be said to the readers regarding the relationship of history, ruler and public, and this autobiography should not be left blank by scientific thought. Hence it has resorted to the style of an undeclared sutradhar from beginning to end. The coverage uses a live cometary style to create an ‘effect’. Words ………..
“लोग आपको समालोचना के लिए पूछ भले ही लें, लेकिन चाहते वे केवल प्रशंसा ही हैं।” ‐ डब्लू सोमरसेट मोघेम
“People ask you for criticism, but they only want praise.” ‐ W. Somerset Maugham

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment