ख़बर : प्रणव कुमार वन्द्योपाध्याय द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Khabar : by Pranav Kumar Bandyopadhyay Hindi PDF Book – Novel (Upanyas)

ख़बर : प्रणव कुमार वन्द्योपाध्याय द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - उपन्यास | Khabar : by Pranav Kumar Bandyopadhyay Hindi PDF Book - Novel (Upanyas)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name ख़बर / Khabar
Author
Category, , , ,
Language
Pages 611
Quality Good
Size 45 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : यह सबदेखा था बिरजू ने, पंडित के नाम दिया था ब्रजेन्द्र, लेकिन वह तो एक पुरानी कथा हुई टूटते-मरोड़ते अब वह नाम बिरजू तक आकर ठहरा , दर्जा छह तक पढ़ लिया था। वह तालीम इस बिहारीपुर मुहल्ले के हिसाब से कम भी नहीं है और अगर कम भी होती तो उसकी फ़िक्र कम-से-कम बिरजू के दिमाग को नहीं होती है। लेकिन जब तक…….

Pustak Ka Vivaran : Yah Sabadekha tha Birajoo ne, Pandit ke Nam diya tha Brajendr, Lekin vah to ek Purani Katha huyi Tootate-marodate ab vah Nam birajoo tak Aakar thahara , darja chhah tak padh liya tha. Vah Taleem is bihaaeepur Muhalle ke hisab se kam bhee nahin hai aur agar kam bhee hoti to usakee fikr kam-se-kam Birajoo ke Dimag ko Nahin hoti hai. Lekin jab tak………..

Description about eBook : This was seen by Birju, who had given the name of Pandit to Brajendra, but he was an old legend and now he kept reading the name till Birju, twisting and twisting. According to this Biharpur locality, this training is not less and if it is less then it does not care about Birju’s mind at least. But until ………..

“हम बाहरी दुनिया में तब तक शांति नहीं पा सकते हैं जब तक कि हम अन्दर से शांत न हों।” दलाई लामा
“We can never obtain peace in the outer world until we make peace with ourselves.” Dalai Lama

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment