खुशनसीब हैन्स : ग्रिम ब्रदर्स द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Khushnaseeb Hains : by Grimm Brothers Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Nameखुशनसीब हैन्स / Khushnaseeb Hains
Author
Category, ,
Language
Pages 22
Quality Good
Size 2 MB
Download Status Available

खुशनसीब हैन्स का संछिप्त विवरण : हैन्स ने अपने मालिक की सात साल सेवा की थी। “अब माँ को देखने का समय आ गया है ,”हैन्स ने मालिक से कहा। मालिक ने कहा, “तुमने मेरी बहुत अच्छी सेवा की है। यह रहा तुम्हारा वेतन। “ और फिर मालिक ने हँस को सोने का एक बहुत बड़ा टुकड़ा दिया जो लगभग हैन्स के सिर जितना बड़ा था। हैन्स ने अपनी चादर में सोने को बांधा……

Khushnaseeb Hains PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Hains ne apane malik kee sat sal seva kee thee. Ab man ko dekhane ka samay aa gaya hai ,hains ne malik se kaha. Malik ne kaha, tumane meri bahut achchhee seva kee hai. Yah raha tumhara vetan. Aur phir malik ne hains ko sone ka ek bahut bada tukada diya jo lagabhag hains ke sir jitana bada tha. Hains ne apani chadar mein sone ko bandha…………
Short Description of Khushnaseeb Hains PDF Book : Haines served his master for seven years. “Now it’s time to see Mother,” Hans said to the owner. The owner said, “You have served me very well. Here is your salary. “And then the owner gave Hans a huge piece of gold that was almost as big as Hans’s head.” Hans tied gold in his sheet………
“हर बात में धीरज रखें, विशेषकर अपने आप से। अपनी कमियों को लेकर धैर्य न खोएं अपितु तुरन्त उनका समाधान करना शुरू करें – हर दिन कर्म की नई शुरुआत है।” – सेन्ट फ्रांसिस दे सेल्स
“Have patience with all things, but chiefly have patience with yourself. Do not lose courage in considering your own imperfections but instantly set about remedying them – every day begins the task anew.” – Saint Francis de Sales

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment