मेरा जीवन ही मेरा संदेश है : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Mera Jeewan Hi Mera Sandesh Hai : Hindi PDF Book – Social (Samajik)

Book Nameमेरा जीवन ही मेरा संदेश है / Mera Jeewan Hi Mera Sandesh Hai
Category,
Language
Pages 26
Quality Good
Size 119 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : मोहनदास करमचंद गांधी का जन्म 2 अक्टूबर, 1869 को पोरबंदर , गुजरात में हुआ था। मोहनदास पुतलीबाई और करमचंद गांधी के तीन बेटों में सबसे छोटे थे। अपनी मां की पवित्र प्रकृति और पिता की सच्चरित्रता ने मोहनदास के मन पर अमिट छाप छोड़ी। गांधीजी के प्रारंभिक जीवन पर राजा हरिश्चंद्र के जीवन पर खेले गये नाटक ने बहुत प्रभाव डाला-जिसमें राजा हरिश्चंद्र अनेक…….

Pustak Ka Vivaran : Mohandas Karamchand Gandhi ka janm 2 aktoobar, 1869 ko porabandar , Gujrat mein huya tha. Mohandas putaleebai aur karamachand Gandhi ke teen beton mein sabse chhote the. Apni man ki pavitra prakrti aur pita ki Sachcharitrata ne mohandas ke man par amit chhap chhodi. gaandhi ji ke prarambhik jeevan par Raja harishchandra ke jeevan par khele gaye natak ne bahut prabhav dala-jisamen Raja harishchandra anek…….

Description about eBook : Mohandas Karamchand Gandhi was born on October 2, 1869 in Porbandar, Gujarat. Mohandas was the youngest of three sons of Putlibai and Karamchand Gandhi. His mother’s pious nature and father’s virtuous character left an indelible mark on Mohandas’s mind. The play played on the life of King Harishchandra made a great impact on Gandhiji’s early life – in which Raja Harishchandra was many……

“आशा के साथ तैयार की गई सड़क पर यात्रा करना उस सड़क पर यात्रा करने से कहीं अधिक आनन्ददायक होता है जिसे निराशा के साथ तैयार किया जाता है चाहे उन दोनो की मंजिल एक ही क्यों न हो।” ‐ मैरियन जिम्मर ब्रैडले
“The road that is built in hope is more pleasant to the traveler than the road built in despair, even though they both lead to the same destination.” ‐ Marian Zimmer Bradley

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment