नंदनवन : डॉ. एन० एल० जैन द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Nandan Van : by Dr. N. L. Jain Hindi PDF Book – Social (Samajik)

नंदनवन : डॉ. एन० एल० जैन द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - सामाजिक | Nandan Van : by Dr. N. L. Jain Hindi PDF Book - Social (Samajik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name नंदनवन / Nandan Van
Author
Category, ,
Language
Pages 586
Quality Good
Size 21 MB
Download Status Available

नंदनवन का संछिप्त विवरण : इनमे भूतकाल से लेकर भविष्य काल के रूप दिये गये है। मुझे विश्वास है कि ये अपनी कोमलता एव कठोरता के साथ मनोरजन एव ज्ञानवर्धन मे सहायक होगी। ये जैन धर्म के मान्यतारूपी वृक्षों की खर-पतवार का आलोडन कर उनमे कलमे और नई टहनिया रोपित करने का काम करेगी। ये कुछ स्थानों पर बीजारोपण के समान सिद्ध होगी……

Nandan Van PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Inme Bhootkal se lekar bhavishy kal ke roop diye gaye hai. Mujhe vishvas hai ki ye apni komalta ev kathorata ke sath Manorajan ev Gyanavardhan me sahayak hogi. Ye Jain dharm ke Manyataroopi vrkshon kee khar-Patvar ka Aalodan kar uname kalame aur nayi tahaniya ropit karne ka kam karegi. Ye Kuchh sthanon par Beejaropan ke Saman siddh hogi…….
Short Description of Nandan Van PDF Book : They have been given from the past tense to the future tense. I believe that it will be helpful in entertainment and enlightenment with its softness and hardness. It will work to plant weeds and new twigs in the trees of Jainism. It will prove to be like planting seeds in some places……..
“किसी निर्दोष को दंडित करने से बेहतर है एक दोषी व्यक्ति को बख़्श देने का जोख़िम उठाना।” वाल्तेयर (१६९४-१७७८)
“It is better to risk saving a guilty man than to condemn an innocent one.” Voltaire (1694-1778), French Writer and Philosopher

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment