हिंदी संस्कृत मराठी ब्लॉग

नवधा भक्ति / Navdha Bhakti

नवधा भक्ति : श्री रामकिंकर जी महाराज द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - धार्मिक | Navdha Bhakti : by Shri Ramkinkar Ji Maharaj Hindi PDF Book - Religious (Dharmik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name नवधा भक्ति / Navdha Bhakti
Author
Category
Language
Pages 76
Quality Good
Size 8.3 MB
Download Status Available

नवधा भक्ति पुस्तक का कुछ अंश : इस आयोजन के यजमान बिरला दंपत्ति श्री बसंत कुमारजी बिरला एवं सौजन्यमयी डा श्रीमती सरला जी बिरला ने विगत वर्ष यह प्रसंग चुना और इसको पूरा करने का आग्रह भी किया ,किन्तु मेरी प्रकृति ऐसी है की विषय को पूरा करना मेरे हाथ की बात नहीं होती ,जब जैसा और जितना प्रभु कहलवा देते है मे कह देता हूँ………..

Navdha Bhakti PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Is aayojan ke yajman birla dampatti Shri Basant kumarji birla evam saujanyamayi Dr. Shrimati Sarla jee birla ne vigat varsh yah prasang chuna aur isko pura karne ka aagrah bhi kiya ,kintu meri prakriti aisi hai ki vishay ko pura karna mere hath ki baat nahin hoti ,jab jaisa aur jitna prabhu kahalva dete hai me kah deta hun…………
Short Passage of Navdha Bhakti Hindi PDF Book : The host Birla couple, Mr. Basant Kumarji Birla, and the gentleman Dr. Shrimati Sarla ji Birla, this year, chose this theme and requested to complete it, but my nature is such that fulfilling the subject is not a matter of my hand, When and as much as the Lord says, I say in……………..
“दूसरों की पुष्टि पर निर्भर करने की तुलना में स्वयं को जानने तथा स्वीकार करने- अपनी शक्तियों तथा अपनी सीमाओं को जान लेने से वास्तविक विश्वास की उत्पत्ति होती है।” ‐ जूडिथ एम. बार्डविक
“Real confidence comes from knowing and accepting yourself – your strengths and your limitations – in contrast to depending on affirmation from others.” ‐ Judith M. Bardwick

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Leave a Comment