पापा पनोव का विशेष दिन : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Papa Panov Ka Vishesh Din : Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Nameपापा पनोव का विशेष दिन / Papa Panov Ka Vishesh Din
Author
Category, , , , ,
Language
Pages 16
Quality Good
Size 1.2 MB
Download Status Available

पापा पनोव का विशेष दिन का संछिप्त विवरण : और ऐसे बहुत से लोग थे जो नए जूते बनवाना चाहते थे, या पुराने जूतों की मरम्मत करवाना चाहते थे. इसलिए पापा पानोव की इतनी कमाई हो जाती थी कि वे बेकर से रोटी खरीद सकें, किराने की दुकान से कॉफी और रात के सूप के लिए गोभी खरीद सकें. इसलिए ज्यादातर समय पापा पानोव काफी खुश रहते थे. उनकी आंखें उनके छोटे गोल…..

Papa Panov Ka Vishesh Din PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Aur Aise bahut se log the jo naye joote banvana chahte the, ya Purane jooton ki Marammat karvana chahate the. Isliye Papa Panov ki itni kamayi ho jati thi ki ve bekar se Roti khareed saken, kirane ki dukan se kophi aur Rat ke soop ke liye gobhi khareed saken. Isliye Zyadatar samay Papa Panov kaphi khush rahte the. Unki Aankhen unke chhote gol…….
Short Description of Papa Panov Ka Vishesh Din PDF Book : And there were many people who wanted to make new shoes, or get old shoes repaired. That’s why Papa Panov earned enough money to buy bread from the baker, coffee from the grocery store, and cabbage for dinner soup. That’s why Papa Panov was very happy most of the time. Their eyes are their little round……
“जो आप करवाना चाहते हैं वह किसी और से उसकी इच्छा से करवाने की कला ही नेतृत्व है।” ‐ ड्वाइट आइज़ेन्होवर
“Leadership is the art of getting someone else to do something you want done because he wants to do it.” ‐ Dwight Eisenhower

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment