पथ का अन्त : सत्य देव शर्मा द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – कहानी | Path ka Ant : by Satya Dev Sharma Hindi PDF Book – Story (Kahani)

पथ का अन्त : सत्य देव शर्मा द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - कहानी | Path ka Ant : by Satya Dev Sharma Hindi PDF Book - Story (Kahani)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name पथ का अन्त / Path ka Ant
Author
Category,
Language
Pages 136
Quality Good
Size 4.2 MB
Download Status Available
पथ का अन्त पुस्तक का कुछ अंशहीरालाल, गुरु जी का बड़ा भक्त था | घर का गुजारा उसका अच्छा न था, साधारण यजमानी पुरोहिताई से पूरी तरह गुजर बसर न होती थी | छोटा भाई भवानी दास तो कुछ पढ़ लिख गया है और उसने अपने कस्बे के गायन मास्टर चौरेगी लाल से जो उनका थोड़ा बहुत सम्बन्धी था, बिना कुछ लिए दिए गाना बजाना भी सीख लिया…..
Path ka Ant PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Hiralaal, guru ji ka bada bhakt tha. Ghar ka gujara uska achchha na tha, sadharan yajmani purohitai se puri tarah gujar basar na hoti thi. Chhota bhai bhawani daas to kuchh padh likh gaya hai aur usne apne kasbe ke gayan mastar chauregi laal se jo unka thoda bahut sambandhi tha, bina kuchh lie die gana bajana bhi sikh liya…………
Short Passage of Path ka Ant Hindi PDF Book : Hiralal was a great devotee of Guru ji. It was not good to live in the house; the ordinary hostess did not pass through completely. The younger brother Bhavani Das has written some reading and he also learned to play the song singing for his town, Master Choregi Lal, who was a little too relieved…………
“साख बनाने में बीस साल लगते हैं और उसे गंवाने में बस पांच मिनट, अगर आप इस बारे में सोचेंगे तो आप चीजें अलग तरह से करेंगे।” – वॉरेन बफे
”It takes 20 years to build a reputation and five minutes to ruin it. If you think about that, you’ll do things differently.” – Warren Buffett

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment