शक्तिपात कुण्डलिनी महायोग : स्वामी विष्णु तीर्थ द्वारा हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Shaktipaat Kundalini Mahayoga : by Swami Vishnu Tirtha Hindi PDF Book

Book Nameशक्तिपात कुण्डलिनी महायोग / Shaktipaat Kundalini Mahayoga
Author
Category, , ,
Pages 98
Quality Good
Size 17.7 MB
Download Status Available

शक्तिपात कुण्डलिनी महायोग का संछिप्त विवरण : आजकल प्राय यह धारणा हो गयी है कि योग का साधन केवल उम्र तपस्यायुक्त गृहत्यागी ही कर सकते हैं। परन्तु कोई भी भारतीय इस बात से अनभिन्ञ नहीं है कि हमारे पूर्वजों ने किस प्रकार गृहस्थ-धर्म का पालन करते हुए भी योग की सर्वोच्च भूमिकाओं को प्राप्त किया था। योगिराज भगवान कृष्ण का आदर्श जीवन इस बात का प्रमाण है…….

Shaktipaat Kundalini Mahayoga PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Aajkal praay yah dhaarna ho gayi hai ki yog ka saadhan keval umr tapasyayukt grhatyaagi hi kar sakate hain. Parntu koi bhi bhaarteey is baat se anbhigy nahin hai ki hamaare poorvajon ne kis prakaar grhasth-dharm ka paalan karate hue bhee yog kee sarvochch bhoomikaon ko praapt kiya tha. yogiraaj bhagvaan krishna ka aadarsh jeevan is baat ka pramaan hai………….
Short Description of Shaktipaat Kundalini Mahayoga PDF Book : It is often assumed that nowadays, yoga can be done only by age-appropriate homeless people. But no Indian is unaware of how our forefathers had attained the highest roles of yoga even while following the householder religion. Yogiraj Lord Krishna’s ideal life is proof of this fact……………
“अगर सफलता का कोई राज़ है, तो वह दूसरे के दृष्टिकोण को समझने और चीजों को उसके दृष्टिकोण से अपने दृष्टिकोण जितने अच्छे से देख पाने की क्षमता में निहित है।” हेनरी फोर्ड
“If there is one secret of success, it lies in the ability to get the other person’s point of view and see things from that person’s angle as well as from your own.” Henry Ford

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment