सुलेमान एक जंग – लगी कील : विलियम स्टिग द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Suleman Ek Jung – Lagi Keel : by William Steig Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Nameसुलेमान एक जंग – लगी कील / Suleman Ek Jung – Lagi Keel
Author
Category, ,
Language
Pages 33
Quality Good
Size 1.6 MB
Download Status Available

सुलेमान एक जंग – लगी कील का संछिप्त विवरण : सुलेमान बेचारा चिल्ला भी न पाया, “माँ, यह मैं सुलेमान हूँ!” उसके पास बोलने के लिये जुबान ही नहीं थी. उसको चिंता होने लगी. अब मेरा क्या होगा? क्या मुझे भी शहर के बाकी कूड़े के साथ जिंदगी बितानी पड़ेगी? “मैं यहाँ कूड़ेदान में क्यों पड़ा हुआ हूँ?” उसने खुद से कहा, “में कील थोड़े ही हूँ, मैं तो एक खरगोश हूँ……

Suleman Ek Jung – Lagi Keel PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Sulemaan Bechara chilla bhi na paya, “Man, yah main Suleman hoon!” uske pas bolane ke liye juban hi nahin thi. Usko chinta hone lagi. Ab mera k‍ya hoga ? Kya mujhe bhi shahar ke baki koode ke sath Zindagi bitani padegi ? “Main yahan koodedan mein k‍yon pada huya hoon?“ Usane khud se kaha, “Mein keel thode hi hoon, main to ek kharagosh hoon…….
Short Description of Suleman Ek Jung – Lagi Keel PDF Book : Poor Solomon could not even cry, “Mother, this is me Solomon!” He didn’t even have a tongue to speak. He started worrying. Now what about me? Will I also have to live with the rest of the city’s garbage? “Why am I lying here in the dustbin?” He said to himself, “I am few nails, I am a rabbit……
“अपना जीवन जीने के केवल दो ही तरीके हैं। पहला यह मानना कि कोई चमत्कार नहीं होता है। दूसरा है कि हर वस्तु एक चमत्कार है।” ‐ अल्बर्ट आईन्सटीन
“There are only two ways to live your life. One is as though nothing is a miracle. The other is as though everything is a miracle.” ‐ Albert Einstein

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment