वह सब कुछ देखती थी : जेनेट विंटर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Vah Sab Kuchh Dekhati Thi : by Janet Winter Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Nameवह सब कुछ देखती थी / Vah Sab Kuchh Dekhati Thi
Author
Category, ,
Language
Pages 45
Quality Good
Size 1 MB
Download Status Available

वह सब कुछ देखती थी का संछिप्त विवरण : रात में, बीन टमाटर और प्याज की सब्जी खाने के बाद, मोलत्जार्ट संगीत सुनने हुए जेन अपनी डायरी में दिन भर की देखी चीजों लिखती थी। उसके टेंट में इतने सालों से लिखे हुए नोट्स के ढेर पड़े हुए थे। जेन को मदद चाहिए थी। इसलिए चिम्पांजियों देखने और उनके बारे में लिखने लिए……

Vah Sab Kuchh Dekhati Thi PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Rat mein, been Tamatar aur pyaj ki sabji khane ke bad, Motjart Sangeet sunane huye jen apni dayari mein din bhar ki dekhi cheejon likhati thi. Uske tent mein itane salon se likhe huye nots ke dher pade huye the. Jen ko Madad chahiye thi. Isliye chimpanjiyon dekhane aur unke bare mein likhane liye………
Short Description of Vah Sab Kuchh Dekhati Thi PDF Book : At night, after eating a bean-tomato and onion curry, Jane would write down the things she had seen throughout the day in her diary while listening to Mozart’s music. There were piles of notes written in his tent for so many years. Jane needed help. So to see chimpanzees and write about them……
“सम्पन्नता धन के संग्रह में नहीं होती, बल्कि उसके उपयोग में होती है।” नेपोलियन बोनापार्ट
“Riches do not consist in the possession of treasures, but in the use made of them.” Napoleon Bonaparte

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment