यह चांडाल चौकड़ी, बड़ी अलाम है : दिनेश चन्द्र पुरोहित द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – नाटक | Yah Chandal Chaukadi, Badi Alam Hai : by Dinesh Chandra Purohit Hindi PDF Book – Drama (Natak)

Book Nameयह चांडाल चौकड़ी, बड़ी अलाम है / Yah Chandal Chaukadi Badi Alam Hai
Author
Category, , ,
Language
Pages 515
Quality Good
Size 6.3 MB
Download Status Available

यह चांडाल चौकड़ी, बड़ी अलाम है का संछिप्त विवरण : श्री दिनेश चन्द्र पुरोहित ने इस पुस्तक का शीर्षक “अलाम” शब्द से शुरू किया, जो पुस्तक की कहानी के लिए पूर्ण उपयुक्त है। हिंदी साहित्य के नाटकों में ऐसे भी पात्र होते हैं जो आदतन शरारती होते हैं, और उन पर किसी का वश नहीं चलता..ये अलाम, जबरे या कुबदी श्रेणी में आते हैं। इस पुस्तक में ऐसे अलाम किरदारों की गतिविधि के……

Yah Chandal Chaukadi Badi Alam Hai PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Shri Dinesh Chandra Purohit ne is Pustak ka Sheershak “Alam” Shabd se shuru kiya, jo Pustak ki Kahani ke liye purn upayukt hai. Hindi Sahity ke Natakon mein aise bhee patra hote hain jo Aadtan Shararati hote hain, aur un par kisi ka vash nahin chalata. Ye Alam, jabare ya kubadi Shreni mein aate hain. Is Pustak mein aise Alam kiradaron ki Gatividhi ke…………
Short Description of Yah Chandal Chaukadi Badi Alam Hai PDF Book : Shri Dinesh Chandra Purohit started the title of this book with the word “Alam”, which is perfect for the story of the book. There are also characters in the plays of Hindi literature who are habitually mischievous, and they are not controlled by anyone.. They come under the category of Alam, Jabre or Kubdi. About the activity of such alam characters in this book…………
“जीवन जीने के दो ही तरीके हैं। एक तो ऐसे जैसे कि कुछ भी चमत्कारी नहीं है। और दूसरा जैसे कि सब कुछ चमत्कारी है।” अल्बर्ट आइन्सटाइन
“There are only two ways to live your life. One is as though nothing is a miracle. The other is as though everything is a miracle.” Albert Einstein

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment