अनाथ भगवान : श्री जवाहरलाल जी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – आध्यात्मिक | Anath Bhagwan : by Shri Jawahar lal Ji Hindi PDF Book – Spiritual (Adhyatmik)

Book Nameअनाथ भगवान / Anath Bhagwan
Author
Category, , ,
Language
Pages 360
Quality Good
Size 10 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : अब यह देखना चाहिए कि इस अध्ययन एक अधिकारी कौन है ? सूर्य सभी का है और सभी उससे प्रकाश पाने की अधिकारी है, किसी को सूर्य का प्रकाश पाने की मनाई नहीं है; जिनके आँखें ही नहीं है अथवा जिनकी आँखों में उल्ूक की भांति विकृति आ गई है, उनके सिवाय सभी सूर्य के प्रकाश से लाभ उठा सकते है। इसी प्रकार जिसके हृदय के नेत्र खुले है……

Pustak Ka Vivaran : Ab Yah Dekhana chahiye ki is Adhyayan ek Adhikari kaun hai ? Soory sabhi ka hai aur sabhee usase prakash pane kee Adhikari hai, kisi ko soory ka prakash pane kee Manai nahin hai; Jinake Ankhen hee nahin hai athava jinaki Aankhon mein ulook kee bhanti vikrti aa gayi hai, Unake sivay sabhi Soory ke Prakash se labh utha sakate hai. Isi prakar jisake hrday ke netra khule hai…………

Description about eBook : Now it should be seen who is an officer in this study? The sun belongs to everyone and everyone deserves to get light from it, no one is forbidden to get sunlight; All those who do not have eyes or who have deformity like the eye, can benefit from sunlight. Similarly, whose eyes are open …………

“एक सफल व्यक्ति और असफल व्यक्ति में साहस का या फिर ज्ञान का अंतर नहीं होता है बल्कि यदि अंतर होता है तो वह इच्छाशक्ति का होता है।” ‐ विसेंट जे. लोम्बार्डी
“The difference between a successful person and others is not a lack of strength, not a lack of knowledge, but rather in a lack of will.” ‐ Vincent J. Lombardi

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment