उदाहरण माला : आचार्य श्री जवाहरलाल जी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – आध्यात्मिक | Udaharan Mala : by Acharya Shri Jawahar Lal Ji Hindi PDF Book – Spiritual (Adhyatmik)

उदाहरण माला : आचार्य श्री जवाहरलाल जी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - आध्यात्मिक | Udaharan Mala : by Acharya Shri Jawahar Lal Ji Hindi PDF Book - Spiritual (Adhyatmik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name उदाहरण माला / Udaharan Mala
Author
Category, ,
Language
Pages 309
Quality Good
Size 9 MB
Download Status Available

उदाहरण माला का संछिप्त विवरण : राजकुमार होने पर भी नंदिशेण मुनि ऐसी सेवा करते है कि उन जैसी सेवा करना दूसरों के लिए बड़ा कठिन है। इंद्र महाराज देवों के सामने एक मनुष्य की इतनी प्रशंसा क्यों करते है ? अच्छा, उस सेवाभावी मुनि की परीक्षा क्यों न की जाए ? आखिर नंदिशेण मुनि मनुष्य है। मनुष्य की नाक में दुर्गन्‍्ध जाती……

Udaharan Mala PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Rajkumar hone par bhee Nandishen muni aisee seva karate hai ki un jaisi seva karana doosaron ke liye bada kathin hai. Indra maharaj devon ke samane ek manushy kee itani prashansa kyon karate hai ? Achchha, us sevabhavi muni kee pareeksha kyon na kee jaye ? Akhir nandishen muni manushy hai. Manushy kee nak mein durgandh jati hai…………
Short Description of Udaharan Mala PDF Book : In spite of being a prince, Nandishin Muni does such service that it is very difficult for others to serve like him. Why does Indra Maharaj praise a man so much in front of the gods? Okay, why not test that service monk? After all, Nandishin Muni is a human being. Man’s nose smells bad……
“सुअवसरों पर कदम बढ़ाना ही सफलता की सीढ़ी चढ़ने का उत्तम तरीका है।” ‐ ऐन रैंड
“The ladder of success is best climbed by stepping on the rungs of opportunity.” ‐ Ayn Rand

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment