अतीन्द्रिय लोक : गोविन्द प्रसाद श्रीवास्तव द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – आध्यात्मिक | Atindriya Lok : by Govind Prasad Shrivastav Hindi PDF Book – Spiritual ( Adhyatmik )

अतीन्द्रिय लोक : गोविन्द प्रसाद श्रीवास्तव द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - आध्यात्मिक | Atindriya Lok : by Govind Prasad Shrivastav Hindi PDF Book - Spiritual ( Adhyatmik )
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name अतीन्द्रिय लोक / Atindriya Lok
Author
Category,
Language
Pages 132
Quality Good
Size 19 MB
Download Status Available

अतीन्द्रिय लोकपुस्तक का कुछ अंश : सभ्यता के आदिकाल से ही मनुष्य सदा से मन में यह जिज्ञासा लिए रहा- ‘क्या इस संसार से पृथक कोई और भी संसार है ? शरीर छुटने पर यह आत्मा किस लोक में जाती है ? यदि पुनर्जन्म होता है तो पुनर्जन्म के पूर्व आत्मा का कहाँ और किस रूप में वास होता है ? क्या प्रेत लोक करके कोई लोक है अथवा यह मन का एक कल्पित भय है…….

Atindriya Lok PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Sabhyata ke aadikal se hi manushy sada se man mein yah jigyasa lie raha- kya is sansar se prthak koi aur bhi sansar hai ? sharir chhutne par yah aatma kis lok mein jati hai ? yadi punarjanm hota hai to punarjanm ke purv aatma ka kahan aur kis rup mein vaas hota hai ? kya pret lok karke koi lok hai athava yah man ka ek kalpit bhay hai…………
Short Passage of Atindriya Lok Hindi PDF Book : From the very beginning of the civilization, man has always kept this curiosity in mind: ‘Is there any other world different from this world? In which person does this soul go to the body? If there is rebirth, then where and in what form does the soul reside before reincarnation? Is there a person by the phantom folk or is it an imaginary fear of the mind……………
“छोटी बुराई को अपने पास न आने दें क्योंकि अन्य बड़ी बुराईयां सुनिश्चित रूप से इसके पीछे-पीछे आती हैं।” ‐ बाल्टासार ग्रेसिय
“Never open the door to a lesser evil, for other and greater ones invariably follow it.” ‐ Baltasar Gracian

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment