वन स्मॉल स्टेप कैन चेंज यॉर लाइफ : रॉबर्ट माउरर द्वारा हिंदी ऑडियो बुक | One Small Step Can Change Your Life : by Robert Maurer Hindi Audiobook

वन स्मॉल स्टेप कैन चेंज यॉर लाइफ : रॉबर्ट माउरर द्वारा हिंदी ऑडियो बुक | One Small Step Can Change Your Life : by Robert Maurer Hindi Audiobook
पुस्तक का विवरण / Book Details
AudioBook Name वन स्मॉल स्टेप कैन चेंज यॉर लाइफ / One Small Step Can Change Your Life
Author
Category,
Language
Duration 39:33 mins
Source Youtube

One Small Step Can Change Your Life Hindi Audiobook का संक्षिप्त विवरण : इस बात को इतना सच माना जाता है कि हम इस बारे में सवाल नहीं करते हैं कि दरअसल यह सच है भी या नहीं। बहुत से कारणों से हममें से कई लोग परिवर्तन को एक ऐसे पहाड़ की तरह देखते हैं, जिस पर हमें चढ़ना है। नए साल के संकल्पों को ही देख लें, जो लगभग हमेशा असफल होते हैं। आम अमेरिकी दस साल तक लगातार वही संकल्प लेता है, और कभी भी कामयाब नहीं होता। चार महीनों के भीतर ही 25 प्रतिशत संकल्प टूट जाते हैं। जो लोग अपने संकल्प पूरे कसे में कामयाब होते हैं, वे आम तौर पर पाँच-छह साल की असफलता के बाद ही ऐसा कर पाते हैं। कारोबारी जगत में संगठनात्मक परावर्तन को मुश्किल माना जाता है। जो मैनेजर प्रतिरोध के वाले स्टाफ को प्रेरित करने के तेज़ तरीकों की फ़िराक़ में रहते हैं, उन्हें कई लोकप्रिय व्यावसायिक पुस्तकें मिल जाती हैं, जो तुस्त-फुसत समाधानों या पैरों का पाठ पढ़ाती हैं। अक्सर ये पुस्तकें कारोबारी नीतिकथाएँ बताती हैं, जिनमें आसान कहानियों और प्यारे जानवरों के जरिये संदेश पहुँचाया जाता है। कुछ पुस्तकें बेस्टसेलए बन जाती हैं, जैसे जॉन कॉटर की अबर आहसवर्ग इन मेल्टिंग जो इस पीढ़ी की बुद्धिमत्ता का सार पेश का है: यदि कर्मचारियों को कोई परिवि्त॑ कले के लिए प्रोत्साहित कला है, तो उन्हें किसी आसन्‍न आपातकालीन स्थिति किसी जोखिम – का भरोसा दिलाना होगा।
लेकिन लोकप्रिय राय के विपरीत, परिवर्तन का – चाहे यह व्यक्तिगत हो या व्यावसायिक कष्टकारी होना ज़रुरी नहीं है। न ही इसके लिए उन डरावनी तकनीकों का इस्तेमाल ज़र्नी है, जिनका इस्तेमाल हम ख़ुद को – या अपने सहकर्मियों को – सार्थक कार्य में जुटाने के लिए करते हैं। आप जो पने पढ़ने वाले हैं, उससे आपका यह भ्रम टूट जाएगा कि परिवर्तन मुश्किल है। इससे वे अवरोध प्रभावी ढंग से हट जाएँगे, जो व्यक्तियों और कार्य॑समूहों को मनचाहे परिणाम हासिल करने से रोकते हैं। आप सीखेंगे कि यह ज़रूरी नहीं है कि परिवर्तन सिर्फ़ किसी गंभीर स्थिति पर क्रांतिकारी प्रतिक्रिया के रूप में ही हो।
यह पुस्तक आपको दिखाएगी कि काइज़न की शक्ति का दोहन कैसे करें: छोटे क़दमों का इस्तेमाल करके बढ़े लक्ष्य हासिल कैसे करें। काइज़न एक प्राचीन दर्शन है, जिसका सार नाओ ते चिंग के इस शक्तिशाली कथन में है: “एक हज़ार मील लंबी यात्रा भी एक क़दम से ही शुरू होती है। ” हालाँकि इसकी जड़ प्राचीन दर्शन में है, लेकिन हमारे भागमभाग भरे आधुनिक जीवन में भी यह उतना ही प्रभावी और कारगर है। काइज़न की दो परिभाषाएँ हैं:
(i) किसी आदत, प्रक्रिया या प्रॉडक्ट को बेहतर बनाने के लिए बहुत छोटे कदमों का इस्तेमाल करना
(ii) नए प्रॉडक्ट्स और आविष्कारों को प्रेरित करने के लिए बहुत छोटे पलों का इस्तेमाल करना
मैं आपको बताऊँगा कि जब परिवर्तन के प्रति मस्तिष्क की वरीयता का सम्मान किया जाता है, तो परिवर्तन कितना आसान बन सकता है। छोटे कदम उठाकर आप अपने सबसे बड़े सपने कैसे हासिल कर सकते हैं, यहाँ इसके कई उदाहरण दिए गए हैं। काइज़न का इस्तेमाल करके आप सिगरेट पौने जैसी बुरी आदतें बदल सकते हैं। इसके इस्तेमाल से आप व्यायाम कले या सृजनात्मकता का ताला खोलने जैसी अच्छी आदतें मी डाल सकते हैं। कारोबार में आप सौखेंगे कि कर्मचारियों को किस तरह प्रोत्साहित करें और सशक्त बनाएँ, जिससे वे प्रेरित हो जाएँ। लेकित सबसे पहले आइए परिवर्तन के बारे में कुछ आम विश्वासों की जाँच करके देखते हैं कि ‘काइज़न उन सभी बाधाओं को कैसे दूर करता है, जो हम बरसों से अपनी राह में रखते आए हैं।

“विवाह के बंधन दूसरे बंधनों जैसे हैं – इन्हें मजबूत होने में वक़्त लगता है।” ‐ पीटर डे राइस
“The bonds of matrimony are like any other bonds – they mature slowly.” ‐ Peter De Vries

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment