बलिदान : संदीप कुमार जैन द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – कहानी | Balidaan : by Sandeep Kumar Jain Hindi PDF Book – Story (Kahani)

बलिदान : संदीप कुमार जैन द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - कहानी | Balidaan : by Sandeep Kumar Jain Hindi PDF Book - Story (Kahani)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name बलिदान / Balidaan
Author
Category, ,
Language
Pages 45
Quality Good
Size 33 MB
Download Status Available

बलिदान पुस्तक का कुछ अंश : आज से लगभग दो-ढाई हजार वर्ष पूर्व बौद्धधर्म के गुरु अपने चमत्कारों एवं झूठे ज्ञान के बल से राजाओं को अपना शिष्य बनाकर जैनधर्म की फैली हुई विशाल संस्कृति को नष्ट-भ्रष्ट करके अपने धर्म का साम्राज्य फैला रहे थे | और उन्होंने कहा तोड़ डालो सरे झूटे जैन मंदिरों को……..

Balidaan PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Aaj se lagbhag do-dhai hajar varsh purv bauddhadharm ke guru apne chamatkaron evan jhuthe gyan ke bal se rajaon ko apna shishy banakar jaindharm ki phaili hui vishal sanskrti ko nasht-bhrasht karke apne dharm ka samrajy phaila rahe the. Aur unhonne kaha tod daalo sare jhute jain mandiron ko…………
Short Passage of Balidaan Hindi PDF Book : Today, about two-two and a half thousand years ago, the Guru of Buddhism was spreading the empire of his religion by destroying the vast culture of Jainism by making the disciples their pupils with the power of miracles and false knowledge. And he said break away all the Jain temples…………
“जब हम अपने विचारों को सही दिशा निर्देशन प्रदान करते हैं, तो हम अपनी भावनाओं को नियंत्रित कर सकते हैं।” ‐ डब्ल्यू. क्लेमेंट स्टोन
“When we direct our thoughts properly, we can control our emotions.” ‐ W. Clement Stone

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment