भगवान बुद्ध और उनका धम्म : डॉ० बाबासाहेब आम्बेडकर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – धार्मिक | Bhagwan Buddha Or Unka Dhamm : by Dr. Babasaheb Ambedkar Hindi PDF Book – Religious ( Dharmik )

भगवान बुद्ध और उनका धम्म : डॉ० बाबासाहेब आम्बेडकर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - धार्मिक | Bhagwan Buddh Or Unka Dhamm : by Dr. Babasaheb Ambedkar Hindi PDF Book - Religious ( Dharmik )
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name भगवान बुद्ध और उनका धम्म / Bhagwan Buddha Or Unka Dhamm
Author,
Category, ,
Language
Pages 269
Quality Good
Size 5.9 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : भारतीय जनता के एक वर्ग की बौद्ध-धम्म में दिलचस्पी बढ़ती चली जा रही है- इसके लक्षण स्पष्ट द्रष्टिगोचर हो रहे है | इसके साथ साथ एक और स्वाभाविक मांग भी उत्तोत्तर बढती जा रही है और वह भगवान बुद्ध के चरित्र और उनकी शिक्षाओं के सम्बन्ध में एक स्पष्ट तथा संगतग्रन्थ की | किसी भी अबोद्ध के लिये यह कार्य अत्यन्त कठिन है कि भगवान बुद्ध के चरित्र और उनकी शिक्षाओं को एक ऐसे रूप ,में पेश कर सके कि उनमे संपूर्णता के साथ-साथ कुछ भी असंगति न…….

Pustak Ka Vivaran : Bharatiy janta ke ek varg ki Bauddh-dhamm mein dilachaspi badhti chali ja rahi hai- iske lakshan spasht drashtigochar ho rahe hai. Iske sath sath ek aur svabhavik mang bhi uttottar badhti ja rahi hai aur vah bhagwan Buddh ke charitr aur unki shikshaon ke sambandh mein ek spasht tatha sangatagranth ki. Kisi bhi abauddh ke liye yah kary atyant kathin hai ki bhagwan Buddh ke charitr aur unki shikshaon ko ek aise rup ,mein pesh kar sake ki unme sampurnta ke sath-sath kuchh bhi asangati na rahe…………

Description about eBook : The interest of the Buddhist community of one section of the Indian population is increasing – its symptoms are clearly visible. Along with this, another natural demand is also increasing for the elusive and he has given a clear and consistent correlation in relation to the Buddha’s character and his teachings. For any modern, this work is extremely difficult to present in the form of Lord Buddha’s character and his teachings in such a way that there is nothing incompatible with completeness……………

“हमें ऐसा साफ़ दृष्टिकोण दीजिए जिससे हम जान पाएं कि हमें कहां खड़ा होना है और किस बात के लिये खड़ा होना है – क्योंकि जब तक हम किसी बात के लिये खड़े नहीं होंगे हम किसी भी बात पर गिर जायेंगे।” पीटर मार्शल
“Give us clear vision that we may know where to stand and what to stand for – because unless we stand for something we shall fall for anything.” Peter Marshall

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment