ब्रज के धर्म – संप्रदायों का इतिहास : प्रभुदयाल मीतल द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Braj Ke Dharm-sampradayon Ka Itihas : by Prabhudayal Meetal Hindi PDF Book

ब्रज के धर्म - संप्रदायों का इतिहास : प्रभुदयाल मीतल द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Braj Ke Dharm-sampradayon Ka Itihas : by Prabhudayal Meetal Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name ब्रज के धर्म – संप्रदायों का इतिहास / Braj Ke Dharm-sampradayon Ka Itihas
Author
Category, , ,
Pages 732
Quality Good
Size 43 MB
Download Status Available

ब्रज के धर्म – संप्रदायों का इतिहास का संछिप्त विवरण : जैन विद्वानों की अनेक धार्मिक रचनाओं में उक्त स्तुप की प्राचीन परंपरा का गुण-गान करत हुए उनकी विद्यमानता के कारण ही मथुरा की प्रशस्ति लिखी गई है। संगम सूरि कृत 2 बी शती की संस्कृत रचना ‘तीर्थमालरा’ और सिड्सैन सुरि कृत 3 वी शती की अपअंंश कृति ‘सकल तीर्थ स्तोत्र में मथुरा की इसलिए बंदना की गई है कि वहाँ श्रीदेवी विनिमत स्तूप के साथ ही साथ नेमिनाथ और पाश्रवनाथ के रमणीक महा स्तूप भी हैं……

Braj Ke Dharm-sampradayon Ka Itihas PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Jain vidvanon ki anek dharmik rachanaon mein ukt stup ki prachin parampara ka gun-gan karat hue unaki vidyamanata ke karan hi mathura ki prashasti likhi gai hai. Sangam soori krt 12 vi shati ki sanskrt rachana tirthamala aur siddhasain suri krt 13 vi shati ki apabhransh krti sakal tirth stotr mein mathura ki isalie vandana ki gai hai ki vahan shridevi vinimat stoop ke sath hi sath neminath aur pashrvanath ke ramanik maha stoop bhi hain…………..
Short Description of Braj Ke Dharm-sampradayon Ka Itihas PDF Book : In many religious works of Jain scholars, praising the ancient tradition of the stupa, Mathura’s citation was written because of his existence. Mathura has been venerated in the ‘Granth Tirtha’ of the 13th century Sanskrit work ‘Tirthamala’ and ‘Siddhasan Suri’, in the form of 12th Century Sanskrit composition ‘Sukshain Suri’, that is, there was a great blessing in the name of Srimadevi Vinnamat Stupa, along with the great women of Neminath and Paswanath There are stupas too……………
“सफलता के लिए एलेवेटर कार्य नहीं कर रहा है। आपको सीढ़ियों का उपयोग करना होगा। एक बार में एक कदम।” ‐ जोए गिरार्ड
“The elevator to success is out of order. You’ll have to use the stairs, one step at a time.” ‐ Joe Girard

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment