चन्द्रगुप्त मौर्या : श्यामबिहारी मिश्र द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Chandragupta Maurya : by Shyam Bihari Misra Hindi PDF Book

चन्द्रगुप्त मौर्या : श्यामबिहारी मिश्र द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Chandragupta Maurya : by Shyam Bihari Misra Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name चन्द्रगुप्त मौर्या / Chandragupta Maurya
Author
Category
Pages 246
Quality Good
Size 15 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : कथा सरित्सागर और पुराणों मे चन्द्रगुप्त मौर्य मगध वंशी क्षत्रिय था। कुछ शिलालेखों मे यह वंश माधानता से संबद्ध है। मोरी क्षत्रीय अग्नि वाशी थे। मोरी वंश का हे राज्य समाप्त करके बाप्पा रावल मेवाड़ के नरेश हुए थे। मौर शब्द श्रेष्ठठा है। वह मोरी से मिलता है। जैनो के अनुसार चन्द्रगुप्त मयूरपोषक के राजा का दौहित्र………..

Pustak Ka Vivaran : Katha saritsaagar aur puraanon me chandragupt maury magadh vanshi kshatriy tha. kuch shilaalekhon me yah vansh maadhaanata se sambaddh hai. mori kshatreey agni vaashi the. mori vansh ka he raajy samaapt karake baappa raaval mevaad ke naresh hue the. maur shabd shreshthata hai. vah moree se milata hai. jaino ke anusaar chandragupt mayooraposhak ke raaja ka dauhitr tha………….

Description about eBook : Chandragupta Maurya Magadha Vansi was a Kshatriya in the Katha Suritsagar and Puranas. In some inscriptions, it is associated with dynasty of beef. Mori Kshatriya Agni Vashi was there. By ending the kingdom of the Mori dynasty, Bappa Raval was the ruler of Mewar. The word maur is superiority. He meets mori. According to Jaino, Chandragupta was the King of the King of Peacock……………

“आपकी समस्या वास्तविकता में कभी भी आपकी समस्या नहीं होती है, आपकी समस्या के प्रति आपकी प्रतिक्रिया आपकी समस्या होती है।” ‐ ब्राइन किन्से
“Your problem is never really your problem; your reaction to your problem is your problem.” ‐ Brian Kinsey

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment