छात्र मित्र : पं० विद्याधर शास्त्री द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – साहित्य | Chhatra Mitra : by Pt. Vidhyadhar Shastri Hindi PDF Book – Literature (Sahitya)

छात्र मित्र : पं० विद्याधर शास्त्री द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - साहित्य | Chhatra Mitra : by Pt. Vidhyadhar Shastri Hindi PDF Book - Literature (Sahitya)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name छात्र मित्र / Chhatra Mitra
Author
Category,
Language
Pages 76
Quality Good
Size 1 MB
Download Status Available

छात्र मित्र का संछिप्त विवरण : मैंने कभी-कोई व्रत नहीं किया कभी कोई यज्ञ अथवा तप नहीं किया और न कभी दान ही दिया मैं केवल पिता के चरणों की सेवा करने को जानता हूं और उसी का ये फल है यह दिव्य-ज्ञान प्राप्त हुआ है; भारतवर्ष का प्राचीन इतिहास पितृ भक्तों से भरा हुआ है। अनेक बालकों ने पिता पर हंसते २ अपने प्राणों का त्याग किया है……..

Chhatra Mitra PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Mainne kabhi-koi vrat nahin kiya kabhi koi yagy athava tap nahin kiya aur na kabhi dan hi diya main keval pita ke charanon ki seva karane ko janata hoon aur usi ka ye phal hai yah divy-gyan prapt huya hai;  bharatavarsh ka pracheen itihas pitr bhakton se bhara huya hai. Anek balakon ne pita par hansate 2 apane pranon ka tyag kiya hai……….
Short Description of Chhatra Mitra PDF Book : I have never done any fast, never performed any yajna or penance nor have I ever given charity, I only know how to serve the feet of the Father and this is the fruit of this, I have received divine knowledge; The ancient history of Bharatvarsha is full of ancestral devotees. Many children have given up their lives laughing at their father …….
“आपका कोई भी काम महत्त्वहीन हो सकता है, किंतु महत्त्वपूर्ण तो यह है कि आप कुछ करें।” ‐ महात्मा गांधी
“Almost everything you do will seem insignificant, but it is important that you do it.” ‐ Mahatma Gandhi

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment