हमारे अुस पार के पड़ोसी : काका कालेलकर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Hamare Us Par Ke Padosi : by Kaka Kalelkar Hindi PDF Book – Social (Samajik)

हमारे अुस पार के पड़ोसी : काका कालेलकर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - सामाजिक | Hamare Us Par Ke Padosi : by Kaka Kalelkar Hindi PDF Book - Social (Samajik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name हमारे अुस पार के पड़ोसी / Hamare Us Par Ke Padosi
Author
Category, ,
Language
Pages 338
Quality Good
Size 11 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : यह पुस्तक बहुत लोग पढ़ेंगे, जिसमें मुझे कोई शक नहीं है। मुझे जैसी भी आशा है कि वह कुछ को प्रेरणा देकर कार्यपरायण भी बनायेगी। क्योंकि जिस दीवानी दुनिया मे योग्य विचार प्रेरित योग्य आचार्य द्वारा ही हम शांति और संतोष प्राप्त कर सकेंगे। मुझे आशा है कि जिस पुस्तक का हिंदी में अनुवाद होगा और सारा भारत उसे पड़ेगा……

Pustak Ka Vivaran : Yah Pustak Bahut log Padhenge, Jisamen Mujhe koi shak nahin hai. mujhe jaisee bhee Aasha hai ki vah kuchh ko prerana dekar karyaparayan bhee banayegi. Kyonki jis deevanee duniya me yogy vichar prerit yogy Aachary dvara hee ham shanti aur santosh prapt kar sakenge. Mujhe Aasha hai ki jis Pustak ka Hindi mein Anuvad hoga aur Sara bharat use padega……

Description about eBook : Many people will read this book, which I have no doubt about. As I hope, she will also inspire some and make them work-oriented. Because in the civilized world, we will be able to achieve peace and satisfaction only through a qualified thought-motivated master. I hope that the book which will be translated into Hindi and the whole of India will be …….

“चाहे आप में कितनी भी योग्यता क्यों न हो, केवल एकाग्रचित्त होकर ही आप महान कार्य कर सकते हैं।” ‐ बिल गेट्स
“Only through focus can you do world-class things, no matter how capable you are.” ‐ Bill Gates

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment